सिटी न्यूज़

Fatehabad Assembly Seat: राम लहर में भी भारतीय जनता पार्टी को नहीं मिली थी फतह

UP City News | Jun 08, 2021 11:23 PM IST

फतेहाबाद विधान सभा क्षेत्र का मिजाज अलग ही है. कभी राष्ट्रीय मुद्दे हावी रहते हैं तो कभी उनको बिल्कुल दरकिनार कर दिया जाता है. तब /हां जातिगत समीकरण काफी हावी रहते हैं. यहां के मतदाता कभी १ एक पार्टी के नहीं रहे हैं. कभी किसी पार्टी को जिताया तो कभी किसी को। यही कारण है कि कोई भी राजनीतिक दल लगातार तीन बार यहां से जीत नहीं सका है. यह ठाकुर और निषाद बाहुल्य क्षेत्र है. कस्बों में वैश्य वर्ग बहुलता मेंं है.

राम लहर में भी हार गई थी भाजपा
फतेहाबाद विधान सभा क्षेत्र अप्रत्याशित चुनाव परिणाम देता आया है. वर्ष 1991 के चुनाव में जहां पूरे प्रदेश में राम लहर थी. जिले की अधिकांश सीटों पर भाजपा को जीत मिली थी तब फतेहाबाद में जनता दल के विजय पाल सिंह जीते. उन्होंने भाजपा के विजेंद्र सिंह भाटी को हराया.

यमुना किनारे के गांव अह्म
फतेहाबाद विधान सभा क्षेत्र से यमुना नदी होकर निकलती है. इसके किनारे बड़ी संख्या में गांव बसते हैं. ये गांव निषाद जाति बाहुल्य हैं. चुनाव चाहे लोकसभा का हो या फिर विधान सभा का. निषाद जबरदस्त मतदान कर परिणाम को प्रभावित करते हैं। यहां से निषाद प्रत्याशी की चार बार जीत हुई है.