सिटी न्यूज़

अमरोहा की अद्भुत बातें | Amroha Amazing Facts | UP City News

अमरोहा की अद्भुत बातें | Amroha Amazing Facts | UP City News
UP City News | Aug 18, 2021 12:46 PM IST

इस वीडियो में आइए जानते हैं, अमरोहा शहर के इतिहास को, वहां के टूरिस्ट प्लेस को और ये भी कि आप वहां कैसे पहुंच सकते हैं. ज़िला अमरोहा (पहले ज्योतिबा फुलेनगर) 15 अप्रैल 1997 को राज्य सरकार द्वारा स्थापित किया गया जिसका मुख्यालय अमरोहा नगर को बनाया गया नवनिर्मित जनपद में तीन तहसील शामिल की गयीं – अमरोहा, धनौरा, एवं हसनपुर। वर्तमान में नवीन तहसील नौगावां सादात को मिला कर 04 तहसील जिले में शामिल हैं । ऐतिहासिक परिपेक्ष्य में जनपद का वर्तमान क्षेत्र बरेली जनपद में स्थित उत्तरी पांचाल देश, जिसकी राजधानी अहित छत्र थी, के राज्य में शामिल था। कहा जाता है कि मुग़ल शासक शाहजहाँ के शासन के समय में संभल के गवर्नर रुस्तम खां ने एक किले का निर्माण यहाँ कराया था तथा व्यापारियों तथा खेतिहरों को इसके आसपास बसाया था.

474 ई पूर्व अमरोहा क्षेत्र में वंशी साम्राज्य के राजा अमरजोध का शासन था। तारीखे-अमरोहा नामक ऐतिहासिक पुस्तक में यह उल्लखित है कि अमरोहा में 676 से 1148 ईस्वी तक राजपूत वंश का शासन था। बहराम शाह (1240-42) ने मलिक जलालुद्दीन को अमरोहा के हकीम के पद पर नियुक्त किया। प्राचीन समय में पांचाल प्रदेश के शासकों को, जिसका इस क्षेत्र पर प्रभाव था हस्तिनापुर के कुरु राजाओं द्वारा हटा दिया गया। कुषाण एवं नंद साम्राज्य के पतन के बाद इस क्षेत्र पर मौर्य वंश का भी शासन रहा तत्पश्चात समुद्रगुप्त का शासन स्थापित हुआ। लगभग दो शताब्दियों तक गुप्त वंश का शासन इस क्षेत्र पर रहा।