सिटी न्यूज़

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा- गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में एक तरफ चलेंगे टैंक, दूसरी तरफ ट्रैक्टर

UP City News | Jan 12, 2021 08:23 PM IST

बागपत. तीन कृषि कानूनों को किसान विरोधी बना बताकर उसे रद्द करने की मांग को लेकर लगातार किसानों का आंदोलन चल रहा है. इसी बीच किसानों ने ऐलान किया है कि वह 26 जनवरी को लाल किले पर होने वाली गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल होंगे और सरकार के सामने सीधे अपना विरोध दर्ज कराएंगे.

इसी दौरान बागपत के बड़ौत में किसानों के धरने में पहुंचे भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता और किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस की परेड में एक तरफ टैंक चलेंगे, तो दूसरी तरफ हमारे तिरंगा लगे हुए ट्रैक्टर. वह हम पर लाठी चलाएंगे और हम राष्ट्रगान गाएंगे.

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि जहां एक तरफ दिल्ली में किसान आंदोलन चल रहा है, वहीं दूसरी तरफ 26 जनवरी की परेड में शामिल होने के लिए किसान तैयारियों में जुट गए हैं. इस दौरान उन्होंने कहा कि देश में अब राजनीति या चुनाव से नहीं बल्कि किसानों के आंदोलन से ही सब कुछ ठीक होगा.

आपको बता दें कि किसानों ने यह ऐलान किया है कि किसान अपने ट्रैक्टर लेके गणतंत्र दिवस की परेड में जाएंगे और सरकार के समक्ष अपना विरोध दर्ज कराएंगे. किसानों के इस विरोध प्रदर्शन को खत्म कराने के लिए केंद्र सरकार लगातार लगी हुई है. इसी बीच किसानों और केंद्र सरकार के बीच हुई आठवीं किसान वार्ता विफल हो गई है, जिसके बाद अगली बातचीत के लिए 15 जनवरी का समय दिया गया है.

किसान और सरकार के बीच हो रही लगातार आठ बातचीत फेल हो गई है और इसका कोई समाधान निकलता हुआ नहीं दिख रहा है. क्योंकि केंद्र सरकार ने स्पष्ट रूप से इस कानून को निरस्त करने से इंकार कर दिया है. वहीं किसान नेताओं का कहना है कि वे अपने अंतिम सांस तक लड़ाई लड़ेंगे और उनकी घर वापसी तभी होगी जब कानून को सरकार वापस लेगी.

बता दें कि आठवें दौर की बातचीत के बाद केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा था कि किसानों और सरकार के बीच हुई आठवें दौर की बातचीत में भी किसी नतीजे पर नहीं पहुंचा जा सका है, क्योंकि किसान नेताओं ने इस कानून को निरस्त करने की अपनी मांग के अलावा कोई और विकल्प नहीं दिया है.

हरियाणा के सीएम की रैली पर किसानों का कब्जा

किसानों को कृषि बिल के फायदे के बारे में बताने के लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की सभा पर किसानों ने कब्जा कर लिया उसके बाद बवाल हो गया. हरियाणा के करनाल में पुलिस ने प्रदर्शनकारी किसानों पर लाठी चार्ज किया है. करनाल जिले के कैमला गांव में बीजेपी ने किसान संवाद कार्यक्रम आयोजित किया था. यहां पर हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर किसानों के बातचीत करने वाले थे और उन्हें नए कृषि कानूनों का फायदा समझाने वाले थे. सीएम कार्यक्रम स्थल पर पहुंचते उससे पहले वहां पर कृषि कानूनों का विरोध कर रहे सैकड़ों किसान पहुंच गए. इस किसानों ने वहां काले झंड़े दिखाए और सीएम खट्टर के खिलाफ नारेबाजी की. इस दौरान यहां तैनात पुलिसकर्मियों और स्थानीय पुलिस ने किसानों को समझा-बुझाकर उन्हें तितर बितर करना चाहा, लेकिन किसान नहीं माने. यहां पर स्थिति बिगड़ने पर पुलिस ने किसानों पर लाठीचार्ज किया और आंसू के गोले दागे हैं.