सिटी न्यूज़

भाप ने कोरोना महामारी से बचाव का दिखाया रास्ता, वायरस को निष्क्रिय करने की क्षमता

UP City News | Apr 24, 2021 10:13 PM IST

लखनऊ. कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर दिन-ब-दिन खतरनाक होती जा रही है. संक्रमण की वजह से कई परिवारों ने अपनों को खो दिया. देश के तमाम डॉक्टर और स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि इस बार कोरोना का वायरस सीधे फेफड़ों पर वार कर रहा है. ऐसे में युवाओं को भी आक्सीजन और वेंटिलेटर देने की जरूरत पड़ रही है. इसके बावजूद रोजाना तमाम लोग जिंदगी की जंग हार रहे हैं.

चिंता के इस दौर में जर्नल ऑफ लाइफ साइंस के शोध ने नया रास्ता दिखाया है. थर्मल इनएक्टीवेशन ऑफ सॉर्स कोविड वायरस पर किया गया शोध कोरोना संक्रमितों व नॉन कोविड मरीजों के लिए उम्मीद की किरण जगाने वाला है. इस शोध में भाप को कोरोना वायरस को निष्क्रिय करने का कारगर उपचार माना गया है. इस शोध और अपने अनुभव के आधार पर किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) और संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) के विशेषज्ञों ने भी भाप को कोरोना के खिलाफ फेफड़ों का सैनिटाइजर करार दिया है. विशेषज्ञों के अनुसार रोजाना दो से तीन बार, पांच मिनट तक भाप लेने से वायरस से लड़ने में मदद मिलती है.