सिटी न्यूज़

पंचायत चुनाव की तैयारी शुरू, जानें त्रिस्तरीय पंचायत को इन दस प्‍वाइंट्स में

UP City News | Feb 19, 2021 08:02 AM IST

लखनऊ. त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारी शुरू हो गयी है. चुनाव की तैयारी कर रहे लोगों ने जनता की गणेश परिक्रमा शुरू कर दी है. वहीं प्रशासनिक अमले ने भी अपने स्तर से चुनाव कराने के लिए जुटा है. निर्वाचन आयोग सभी जिलों में मतपत्रों को भेजना शुरू कर दिया है. कार्यालयों में इधर—उधर फेंकी गई मतपेटियों की सफाई शुरू कर दी गई है.

1— ग्रामीण क्षेत्र के विकास के लिए त्रिस्तरीय पंचायतों का गठन किया गया है. जिले की सबसे बड़ी पंचायत को जिला पंचायत होती है. इसके बाद क्षेत्र पंचायत और ग्राम पंचायत होती हैं.

2 — जिला पंचायत: यह जिले की सबसे बड़ी पंचायत होती है. पहले जिला पंचायत सदस्यों का चुनाव होता है. यही सदस्य अपना अध्यक्ष चुनते हैं.

3 — क्षेत्र पंचायत: क्षेत्र पंचायत प्रमुख का चयन क्षेत्र पंचायत सदस्यत करते हैं. जनता क्षेत्र पंचायत सदस्यों को चुनती है. इसके बाद सभी सदस्य प्रमुख को मत देते हैं.

4 — गांव के विकास के लिए ग्राम पंचायत का गठन होता है. इस प्रमुख प्रधान होता है. ग्राम पंचायत सदस्य नियमित बैठक कर विकास कार्यों को अमलीजामा पहनाते हैं.

5— ग्राम पंचायत का गठन करने के लिए ग्राम पंचायत सदस्यों का चुनाव होता है. ग्राम पंचायत की बैठक के लिए सदस्यों का कोरम पूरा होना चाहिए.

6— पंचायत चुनाव के दौरान अभी तक ग्राम पंचायत सदस्य, ​प्रधान व बीडीसी का एकसाथ मतदान होता था. जिला पंचायत सदस्य का चुनाव अलग होता था इस बार सरकार ने सभी एकसाथ करने का फैसला लिया है.
7— अलग बनती है वोटर लिस्ट, ग्राम पंचायत चुनाव के लिए अलग वोटर लिस्ट बनती है. विधानसभा चुनाव एवं लोकसभा का अलग होता है.
8— ग्राम प्रधान, बीडीसी व ग्राम पंचायत सदस्य के चुनाव में एक व्यक्ति चार से ज्यादा पर्चा नहीं भर सकेगा. चारे ज्यादा पर्चा भरने पर स्वत: ही सभी पर्चे निरस्त कर दिये जायेंगे.
9— एक गांव में ग्राम प्रधान के लिए अधिकतम 57 पद भरे जाएंगे. पहले
सिर्फ 47 लोग ही चुनाव लड़ सकते थे.

10— एक वार्ड में क्षेत्र पंचायत सदस्य के लिए 36 पर्चा भरा जा सकता है. इससे अधिक लोग पर्चा नहीं भर सकते हैं.