सिटी न्यूज़

अगर आप भी लॉकडाउन में चिंता और डिप्रेशन का शिकार हो रहे हैं, तो ऐसे मिल सकती है मदद

UP City News | May 27, 2021 08:10 AM IST

नई दिल्ली. लॉकडाउन के कारण कई लोगों की नौकरियां चली गई तो कई के व्यवसाय ठप्प पड़े हैं. घर का खर्च न चलने के कारण या अन्य परेशानियों से लोग चिंता के शिकार हो रहे हैं. अगर आप भी घर पर चिंता (anxiety) उदासी (depression) का शिकार हो रहे हैं, तो यह आर्टिकल आपकी मदद कर करता है.

वक्त का गुजरना.

इन्सान के जीवन में कोई भी परेशानी अनिश्चित काल के नहीं रहती. वक्त गुजरने के साथ-साथ परिस्थितियां भी बदलती रहतीं हैं. इसीलिए आपको अपने आप को यह विश्वास दिलाना होगा कि यह वक्त भी गुजर जाएगा. कैसी भी परेशानी या समस्या स्थिर नहीं रहती.

अपना ध्यान भटकाएं.

जब हम किसी चिंता से जूझ रहे होते हैं, हम हर वक्त उसी चीज के बारे में दिन रात सोचते और अपने आप को परेशान करते हैं. इसीलिए अपने आप को ज्यादा से ज्यादा व्यस्त रखें. अन्य कामों में अपना ध्यान लगाएं.

खुद से बातें करें

परेशानी में अपने आप से अच्छा साथी कोई नही हो सकता. लोग आपको समझा सकते हैं, रास्ता दिखा सकते हैं, लेकिन उस रास्ते पर हमें खुद ही चलना होता है. इसीलिए अपने आपसे बातें करें, अपने आप को समझाएं.

रोजाना सुबह उठकर योगा करें और अपने आप को स्वस्थ रखें. और जिन लोगों पर सबसे ज्यादा विश्वास करते हैं उनसे बातें करे नहीं तो आप अपनी मन की बातें एक डायरी में भी लिख सकते है. लोगों से सुझाव ले अपने आप को परेशानी के हल ढूंढने में लगा दें. अगर आप चाहें तो किसी डॉक्टर की सलाह भी ले सकते हैं.