सिटी न्यूज़

कासगंज में कोरोना पर आस्था भारी, गंगा घाट पर गुरु पूर्णिमा पर उमड़े श्रद्धालु

UP City News | May 30, 2021 11:25 AM IST

कासगंज. कोरोना महामारी पर आस्था भारी पड़ रहा है. कासगंज गंगा घाट पर गुरु पूर्णिमा पर स्नान व पूजन के लिए श्रद्धालु उमड़ पड़े. उत्तर भारत के प्रसिद्ध तीर्थ कासगंज गंगा घाट पर प्रमुख त्योहारों पर पूजा—पाठ के लिए लोग जुटते हैं. कोरोना गाइड लाइन और सोशल डिस्टेंसिग की खुलेआम धज्जियां उड़ी आज पूरे देश में बुद्ध पूर्णिमा मनाई जा रही है.

गुरु पूर्णिमा का खास महत्व है, क्योंकि इसी दिन भगवान गौतम बुद्ध का जन्म हुआ था. इस दिन स्नान, दान और पूजा-पाठ का खास महत्व​ है. सनातन धर्म में इस तिथि को बुद्ध पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है. बुद्ध पूर्णिमा का पर्व बौद्ध अनुयायियों के साथ-साथ हिंदुओं के लिए भी बहुत खास महत्व रखता है. मान्यता है कि वैशाख पूर्णिमा के दिन ही भगवान विष्णु ने महात्मा बुद्ध के रूप में तेइसवां अवतार लिया था. बौद्ध धर्म के अनुयायी इस दिन को बहुत धूमधाम से मनाते हैं.

कासगंज के सोरों तीर्थ स्थल पर गंगा स्नान को आये श्रद्धालु नेत्रपाल का कहना है कि भगवान के आगे कोई कोरोना नहीं है. सारी व्यवस्थाएं भगवान की हैं, गंगा मैया की हैं. वे श्रद्धालुओं से हाथ जोड़कर अपील भी करते हैं कि कोरोना काल मे दो चार फुट की दूरी रखिये और सावधानी बरतिए. काम सब करिए लेकिन सावधानी जरूरी है.