सिटी न्यूज़

अपनी लाचारी पर फफक-फफक कर रोए जिला अस्पताल के स्वास्थ्य अधिकारी, मरीज को देने के लिए नहीं था रेमडेसिवीर इंजेक्शन

UP City News | May 03, 2021 10:44 AM IST

महराजगंज. कोरोना संक्रमण के कारण अस्पतालों में दवा, रिमेडिसिवीर इंजेक्शन के लिए मरीज व उनके परिजन परेशान हैं. सरकारी अस्पतालों में दवा की कमी हो गई है. शासन को लगातार पत्र लिखने के बाद भी जरूरी दवाएं व इंजेक्शन नहीं मुहैया कराया जा रहा है. जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ. एके राय के पास शुक्रवार को जब एक मरीज का परिजन जब जरूरी दवा और इंजेक्शन के लिए पहुंचा तो उनका दर्द छलक गया. कोई जवाब देने के बजाय रोने लगे. मरीज के परिजन व कार्यालय के सहयोगियों ने उन्हें शांत कराया.

संयुक्त जिला अस्पताल में भर्ती एक कोविड मरीज का परिजन इंजेक्शन और जरूरी दवा के लिए सीएमएस के पास पहुंचा. सीएमएस अस्पताल में दवा व इंजेक्शन नहीं होने के कारण बेवस हैं. लोगों को समझाकर शांत करा रहे हैं, बार—बार एक ही बात कह रहे हैं कि इस समय दवा और इंजेक्शन नहीं मिल पा रही है. आज जब गंभीर रूप से बीमार एक मरीज का परिजन जब सीएसएम के पास पहुंचा तो सीएमएस अपने को लाचार समझने लगे. क्योंकि अस्पताल में जरूरी दवाएं और इंजेक्शन का अभाव है. मरीज के परिजन को दवा व इंजेक्शन नहीं उपलब्ध करा पाने से झुब्ध होकर सीएमएसए फूट—फूटकर रोने लगे. कहने लगे इस मुसीबत की घड़ी में लोगों की मदद के बजाय सिर्फ यह कहना पड़ रहा है कि जरूरी दवाएं और इंजेक्शन नहीं है. सीएसएस को रोता देख अन्य कर्मचारी व मरीज के परिजन उन्हें ढांढ़स बंधाने लगे.