Today In History: Christmas-प्रभु युशी के जन्म लेते ही जश्न में डूबी दुनिया, जानिए क्यों मनाते हैं क्रिसमस, चर्चों में हुईविशेष पूजा

नई दिल्ली. इतिहास (History) के पन्नों को पलटेंगे तो कई ऐसी रोचक और महत्वपूर्ण तथ्य सामने आएंगे जिन्हें पहले कभी नहीं जानते थे. 25 दिसंबर (25 december 2022) को पूरी दुनिया में बेहद खास घटनाएं घटी जिन्हें जानना हर नागरिक के लिए जरूरी है. बहुत सी घटनाएं बेहद सुखुद रहीं तो बहुत से हादसों में पूरे विश्व को हिलाकर रख दिया. यूपी सिटी आपको 25 दिसंबर के इतिहास को आपके सामने रखने जा रहा है. जो बेहद महत्वपूर्ण है. विशेष पूजा के साथ मुबारकबाद देने का सिलसिला शुरू 25 दिसंबर को जैसे ही घड़ी की सुई 12 पर पहुंची वैसे ही प्रभु यीशु ने इस धरती पर जन्म लिया. जन्म लेते ही विशेष पूजा के साथ एक दूसरे को मुबारकबाद देने का सिलसिला शुरू हुआ. सुबह होते ही लोगों ने एक से बढ़कर एक केक और मिठाई बांटकर इस जश्न को और भी खुशनुमा बना दिया. जब बात क्रिसमस की हो तो केक का जिक्र करने से नहीं रह सकते. इस दौरान होटलों में तो पहले से ही केक मिक्सिंग सेरेमनी हो गई लेकिन लोगों ने भी अपने—अपने घरों में लजीज केक बनाए. कैसे बनाया केक का non-alcoholic version प्लम केक के non-alcoholic version के लिए, आप ऑथेंटिक स्वाद लाने के लिए सभी सूखे मेवों को संतरे या अंगूर के रस में भिगो सकते हैं. फीडिंग की प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद, प्लम केक को बेक करें. क्रिसमस (Christmas) पर ट्रेडिशनल प्लम केक (Plum Cake) भी तैयार किया गया. प्लम केक को बेक करने से पहले इसमें इस्तेमाल होने वाले ज्यादातर फल और मेवे एल्कोहल में भिगोए जाते हैं. भिगोने की अवधि बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह केक के स्वाद को निर्धारित करती है. जितना अधिक आप सोखेंगे, उतना ही मजबूत केक आपको मिलेगा और एक बेहतर बनावट के साथ. ये रही केक का विधि एक समृद्ध और स्वादिष्ट बेर केक बनाने के लिए, पहले लगभग 500 ग्राम सूखे मेवे लें और उन्हें किसी भी फल के रस या एसेंस में भिगो दें या आप थोड़ी इलायची भी डाल सकते हैं. सुनिश्चित करें कि नट्स के मिश्रण में खजूर, सुल्ताना, बादाम, अखरोट, अंजीर, प्रून, चेरी, क्रैनबेरी और किशमिश शामिल होना चाहिए. सभी सूखे मेवों को बारीक काट कर एक जार में डाल लें. इसमें अपनी पसंदीदा फल का एसेंस डालें और कुछ संतरे के छिलके भी डालें. इसे अच्छे से मिलाएं.जार को ढक्कन से बंद करके कमरे के तापमान पर रख दें. बस इस बात का ध्यान रखें कि सभी सामग्री बेकिंग पीरियड से पहले थोड़ी देर में मिक्स हो जाएं. हालांकि यह सुझाव दिया जाता है कि आप इसे कुछ हफ़्ते पहले बेक कर लें क्योंकि यह केक के स्वाद को बढ़ा देता है. लेकिन अगर आपने तैयारी शुरू नहीं की है, तो आप इसे क्रिसमस से कुछ दिन पहले भी बेक कर सकते हैं. क्यों मनाते हैं क्रिसमस क्रिसमस या बड़ा दिन ईसा मसीह या यीशु के जन्म की खुशी में मनाया जाने वाला पर्व है. यह 25 दिसंबर को पड़ता है और इस दिन लगभग संपूर्ण विश्व मे अवकाश रहता है. क्रिसमस से 12 दिन के उत्सव क्रिसमसटाइड की भी शुरुआत होती है. एन्नो डोमिनी काल प्रणाली के आधार पर यीशु का जन्म, 7 से 2 ई.पू. के बीच हुआ था. 25 दिसंबर यीशु मसीह के जन्म की कोई ज्ञात वास्तविक जन्म तिथि नहीं हैं और लगता है कि इस तिथि को एक रोमन पर्व से संबंध स्थापित करने के आधार पर चुना गया है. क्रिसमस को सभी ईसाई लोग मनाते हैं और आजकल कई गैर ईसाई लोग भी इसे सांस्कृतिक उत्सव के रूप मे मनाते हैं. क्रिसमस के दौरान उपहारों का आदान प्रदान, सजावट का सामान और छुट्टी के दौरान मौजमस्ती के कारण यह एक बड़ी आर्थिक गतिविधि बन गया है और अधिकांश खुदरा विक्रेताओं के लिए इसका आना एक बड़ी घटना है. 25 दिसंबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ -मुग़ल शासक शाह आलम द्वितीय 1771 में मराठाओं के संरक्षण में दिल्ली के सिंहासन पर बैठे. -स्वामी विवेकानंद ने 1892 में कन्याकुमारी में समुद्र के मध्य स्थित चट्टान पर तीन दिन तक साधना की. -पहला अखिल भारतीय कम्युनिस्ट कांफ्रेस 1924 में कानपुर में संपन्न. -ताईवान में 1946 में संविधान को अंगीकार किया गया. -सन 1991 में राष्ट्रपति मिखाइल एस. गोर्बाचोव के त्यागपत्र के साथ ही सोवियत संघ का विभाजन एवं उसका अस्तित्व समाप्त. -मारीशस में 2005 में 400 वर्ष पूर्व विलुप्त ‘डोडो’ पक्षी का दो हज़ार वर्ष पुराना अवशेष मिला. -भारत के द्वारा अंतरिक्ष में भेजे गये चन्द्रयान-1 के 11 में से एक पेलोडर्स ने 2008 में चन्द्रमा की नई तस्वीर भेजी. 25 दिसंबर को जन्मे व्यक्ति -महान् स्वतंत्रता सेनानी, राजनीतिज्ञ, शिक्षाविद ,समाज सुधारक मदनमोहन मालवीय का जन्म 1861 में हुआ. -संस्कृत भाषा के प्रकाण्ड पंडित गंगानाथ झा का जन्म 1872 में हुआ. -‘मुस्लिम लीग’ के अध्यक्ष मुहम्मद अली जिन्ना का जन्म 1876 में हुआ।प्रसिद्ध चिकित्सक, राष्ट्रवादी नेता मुख़्तार अहमद अंसारी का जन्म 1880 में हुआ. -प्रसिद्ध संगीतकार नौशाद का जन्म 1919 में हुआ. -भारत के दसवें प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 1924 में हुआ. -प्रसिद्ध चित्रकार सतीश गुजराल का जन्म 1925 में हुआ. -हिन्दी साहित्यकार धर्मवीर भारती का जन्म 1926 में हुआ. -फ़िल्म निर्देशक मणि कौल का जन्म 1944 में हुआ. -सेप कोन्सुल्तंत इंजिनियर मनोज कुमार चौधरी का जन्म 1978 में हुआ. 25 दिसंबर को हुए निधन भरतपुर के महाराजा सूरजमल का 1763 में निधन. -भारतीय अभिनेता प्रेम अदीब का निधन 1959 में हुआ. -भारत के अंतिम गवर्नर जनरल चक्रवर्ती राजागोपालाचारी का निधन 1972 में हुआ. -हालीवुड के प्रसिद्ध फ़िल्म अभिनेता चार्ली चैपलिन का निधन 1977 में हुआ. -भारत के भू.पू. राष्ट्रपति ज्ञानी ज़ैल सिंह का निधन 1994 में हुआ. -नाटककार, पटकथा लेखक, फ़िल्म व नाट्य निर्देशक सत्यदेव दुबे का निधन 2011 में हुआ. -भारतीय सिनेमा की प्रसिद्ध अभिनेत्री साधना का निधन 2015 में हुआ. 25 दिसंबर के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव -क्रिसमस – christmas.