सिटी न्यूज़

UP City News | Jan 04, 2021 06:44 PM IST

PHOTOS: 'एमबीए वाले का फूड जंक्शन', एमबीए दम्पत्ति ने आपदा को बदला अवसर में

कोरोना काल मे एमबीए पति और बीबीए पत्नी की नौकरी छुटी तो दोनों ने घर मे ही एमबीए वाले का फूड जंक्शन के नाम से चाय पकौड़े की दुकान शुरू की. कुछ ही समय मे चाय पकौड़े इतने मशहूर हो गए कि दूर दूर से लोग खाने के लिए आते है

कोरोना काल में जब तमाम लोगों के रोजगार छूटे तो कुछ लोग हाथ पे हाथ रख कर बैठ गए तो कुछ लोगों ने इस आपदा को अवसर में बदला. ऐसी ही कहानी है मुरादाबाद से रहने वाले एमबीए डिग्री धारी अभिषेक सिंह और उनकी बीबीए डिग्री धारक पत्नी नीतू सिंह की है.

जिन्होंने मुश्किलों के दौर में भी हिम्मत नहीं हारी और आज दूसरों के लिए प्रेरणादायक बने हुए है. दरअसल कोरोना काल में जब नौकरी छुट्टी तो उन्होंने तमाम जगह नौकरी पाने का प्रयास किया लेकिन जब सफलता नहीं मिली तो उन्होंने आपदा को अवसर में बदलने की ठानी और अपने घर पर ही एमबीए वाले का फूड जंक्शन के नाम से चाय पकौड़े की दुकान शुरू कर दी.

ad ad

दुकान की शुरुआत करने में तो उनको थोड़ी समस्या तो जरूर आई लेकिन अब उनकी अलग ही पहचान बन गई है. लोग दूर-दूर से उनके यहां चाय पकौड़े खाने आते है. इतना ही नहीं एमबीए पति और बीबीए पत्नी के द्वारा अब दूसरे बेरोजगार लोगों को रोजगार भी दिया जा रहा है.

चाय पकौड़े की दुकान चलाने वाले एमबीए पति और बीबीए पत्नी कहती है कि इसकी प्रेरणा उन्हें उनकी सास से मिली कि अपना काम घर से ही शुरू करो यही सोच रखते हुए हमने अपने काम की शुरुआत की और आज हम अपने उद्देश्य में सफल हो गए हैं. लोग भी हमारी चाय, कॉफी और पकोड़ो की क्वालिटी से खुश है.

<strong>किस से मिली चाय पकौड़े की दुकान खोलने की प्रेरणा:-</strong><br />बीबीए डिग्री धारक नीतू सिंह का कहना है कि इसकी प्रेणना हमें हमारी सास से मिल रहा है. उन्होंने हमें प्रोत्साहित किया यह काम करते हैं जिसमें चाय और कॉफी की पूरी जिम्मेदारी मैं खुद उठाती हूं. हम पति पत्नी चाय कॉफी बना रहे हैं इसमे हम कुछ अलग टेस्ट दे रहे है.

<strong>एमबीए फूड जंक्शन के खाने की लोग करते है तारीफ:-</strong><br />एमबीए फूड जंक्शन के खाने क्वालिटी बहुत अच्छी है. यहां पर राजमा चावल, छोले भटूरे नाश्ता वगैरह की क्वालिटी बहुत अच्छी मिलती है. हमरे ऑफिस के सामने ही यह फूड जंक्शन है. सुबह ऑफिस आने के समय हम चाय नाश्ता में यहीं पर आकर करते है. यह एमबीए पास है यह दूसरों को प्रेरणा देने का काम कर रहे है. जो भी एमबीए डिग्री होल्डर आज के टाइम में खाली बैठे हैं उनके लिए बहुत बड़ी प्रेरणा है.