सिटी न्यूज़

UP City News | Feb 26, 2021 12:30 PM IST

PHOTOS: इस मासूम का चेहरा देखकर खुश हो जाएंगे आप, पर कहानी पढ़कर निकल आएंगे आंसू

spinal muscular atrophy symptoms, spinal muscular atrophy treatment, Meerut, innocent girl, disease, spinal muscular atrophy, Meerut news update, मेरठ, मासूम लड़की, बीमारी, रीढ़ की हड्डी में पेशी शोष, मेरठ समाचार अपडेट, स्पाइनल पेशी शोष लक्षण, रीढ़ की हड्डी में मांसपेशियों शोष उपचार,

आप जिस हंसती खिलखिलाती बच्ची को देख रहे हैं असल में यह एक बहुत भयानक दर्द से जूझ रही है. ऐसा दर्द जिसे हम शब्दों में बयां भी नहीं कर सकते, लेकिन यह मासूम पल-पल इस दर्द को साथ लेकर चल रही है. डेढ़ साल की इस मासूम का नाम इशानी है और यह मेरठ की रहने वाली है.

इशानी एक बेहद गंभीर बीमारी से जूझ रही है जिसका नाम स्पाइनल मस्क्यूलर अट्रॉफी है. यह एक जेनेटिक बीमारी है जो जीन में गड़बड़ी होने पर अगली पीढ़ी में पहुंचती है. बच्चे में यह डिसऑर्डर होने पर धीरे-धीरे उसका शरीर कमजोर पड़ने लगता है. वह चल फिर नहीं पाता. शरीर की मांसपेशियों पर बच्चे का कंट्रोल खत्म होने लगता है.

ad ad

इससे शरीर के कई हिस्सों में मूवमेंट नहीं हो पाता. इशानी के दादा कुलदीप व दादी ने बताया कि जन्म के सात-आठ माह तक तो इशानी सामान्य बच्चे की तरह ही थी. उसके बाद उसके पैरों का हिलना डुलना धीरे-धीरे बंद होने लगा. अब वह डेढ़ साल की है. इस वक्त वह पैर बिल्कुल नहीं हिला पाती है.

हल्की सी मूवमेंट पैरों के पंजों में होती है. वहीं अब इस बीमारी का असर इशानी के हाथों में भी आने लगा. सीधा हाथ बहुत कम हिल पाता है. इशानी की इस बीमारी की एक ही दवाई है. वह है जोलगेन्स्मा इंजेक्शन। इस इंजेक्शन की कीमत 16 करोड़ रुपये है जबकि इसपर 6 करोड़ का टैक्स भी है यानी इसकी कीमत कुल 22 करोड़ है.

इशानी के परिवार के लिए इतना महंगा इंजेक्शन लगवाना नामुमकिन ही है, ऐसे में फंड जुटाने के लिए इशानी के पिता ने सोशल मीडिया पर लोगों से मदद मांगी है. तो उनके दादा दादी भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ से मदद की गुहार लगा रहे हैं.