सिटी न्यूज़

UP City News | Jul 01, 2021 07:30 PM IST

गर्मी से राहत पाने के लिए हाथी लगा रहे स्विमिंग पूल में डुबकी

उत्तर प्रदेश राज्य में पारा बढ़ने के साथ, वाइल्डलाइफ एसओएस के मथुरा स्थित हाथी संरक्षण एवं देखभाल केंद्र में मौजूद हाथी अपने-अपने निजी स्विमिंग पूल में डुबकी लगा कर गर्मी को मात दे रहे हैं

उत्तर प्रदेश में बढ़ते तापमान को मात देने के लिए, वाइल्डलाइफ एसओएस ने उनके बचाए गए सभी हाथियों के लिए आजीवन देखभाल के तहत अद्भुत व्यवस्थाएं की हैं.

मथुरा में एनजीओ के हाथी संरक्षण एवं देखभाल केंद्र में, सभी 29 हाथियों के पास अपने स्वयं के जंबो स्विमिंग पूल के साथ-साथ पानी की छिड़काव के लिए स्प्रिंकलर भी हैं, जो की उनके बड़े-बड़े बाड़ों को ठंडा रखने में मदद करते हैं.

ad ad

हाथी अपने स्विमिंग पूल में समय बिताते हुए भरपूर आनंद लेते हैं. जहां बूढ़े हाथी, ठंडे ताज़ा पानी में आराम से घंटों बिताना पसंद करते हैं, वहीँ कुछ हाथी जैसे की चंचल, पीनट, कोकोनट और लक्ष्मी ऐसे भी हैं, जो पानी में गोते लगाते हैं और पूल के अंदर रबर के टायरों के साथ खेलते हुए दिखाई देते हैं.

यह पूल 400 वर्ग फुट और 6 फुट गहरे हैं. हाथियों को इनके अंदर आसानी से जाने के लिए, प्रत्येक पूल में एक झुका हुआ रैंप है. गर्मी से राहत प्रदान करने के अलावा, पानी हाथियों के पैरों से अपने भारी वजन को कम करने में भी मदद करता है, जिससे उन्हें आराम करने में मदद मिल सके.

वाइल्डलाइफ एसओएस के हाथी सेंटर में लाये गए हाथियों को सर्कस में प्रदर्शनी, पर्यटकों की सवारी, सड़कों पर भीख मांगने और शादी एवं बारात आदि में इस्तेमाल होने जैसी अत्यधिक तनावपूर्ण परिस्थितियों से बचाया गया है. अतीत में, उन्हें अक्सर ऐसे वातावरण में रखा गया जो कि उनके शरीर के लिए नहीं बना है या फिर उन्हें कंक्रीट पर घंटों तक जंजीर में बाँध कर रखा गया जिसकी वजह से कम उम्र में ही इन्हें आर्थराइटिस जैसी गंभीर बीमारियाँ ने जकड लिया, जिसके कारण वह ज्यादा देर तक खड़े होने या चलने में अत्यधिक दर्द महसूस करते हैं.