सिटी न्यूज़

UP City News | Aug 05, 2021 10:38 AM IST

कोरोना के बाद अब टूटा आसमानी कहर, तस्वीरों में देखिए तबाही का मंजर

जालौन. जिले में यमुना और बेतवा का रौद्र रूप में हैं. यमुना में कोटा बैराज से चंबल में छोड़े गए पानी और सिंधु नदी में आई बाढ़ का असर जिले में ​नजर आ रहा है. यमुना अपने खतरे के निशान के ऊपर बह रही है और यमुना किनारे बसे शेखपुर गुढ़ा गांव में पानी घुस आया है.

बेतवा नदी में झांसी के माताटीला और पारीछा बांध के ओवरफ्लो हो जाने से छोड़े गए पानी से जिले में नदी उफान पर है. लोगों की परेशानी के मद्देनजर प्रशासन ने नाव की व्यवस्था करा दी है, जिससे जरूरत का सामान लाया जा सके.

ad ad

<br />दोनों नदियों के उफान पर होने के बावजूद लोग अपनी जान जोखिम में डालकर डूबे पुल को पार कर रहे हैं. जबकि प्रशासन ने सभी को आगाह किया है कि कोई भी ग्रामीण नदी के आस-पास न जाए. नदियों में आए उफान के कारण किसानों की सैकड़ों एकड़ फसल डूब गई है. इसमें तिल, बाजरा और मानसूनी सब्जी शामिल है.