सिटी न्यूज़

UP City News | May 16, 2021 08:41 PM IST

जी हां, बड़ी-बड़ी फैक्ट्रियां भी फेल हैं ऑक्सीजन पैदा करने वाले इन 6 पेड़ों के सामने

कोरोना के कहर के बीच ऑक्सीजन की कमी लगातार लोगों को जमकर परेशान कर रही है. इसके बीच हम आपको उन 6 पेड़ों के बारे में बतायेंगे जो पर्यावरण में ऑक्सीजन की आपूर्ति करते हैं.

हिंदू और बहुत धर्म पीपल के पेड़ का विशेष महत्व पर सबसे ज्यादा ऑक्सीजन देता है, इसीलिए बार-बार पर्यावरण विद पीपल के पेड़ लगाने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करते रहते हैं.

औषधीय गुणों के साथ-साथ पर्यावरण को ऑक्सीजन देने वाले नीम के पेड़ का हिंदू धर्मशास्त्रों को में विशेष महत्व है.

ad ad

बरगद के पेड़ को भारत का राष्ट्रीय पेड़ कहा जाता है. हिंदू धर्म में भी इसे बहुत पवित्र माना जाता है तथा इसकी पूजा की जाती है या फिर जितना ही घना होता है उतनी ही ज्यादा ऑक्सीजन देता है.

अशोक का पेड़ पर्यावरण को सुगंधित रखने के साथ-साथ ऑक्सीजन का उत्पादन भी करता है. कार्य ताकि यह प्रदूषित गैसों को सोख कर शुद्ध बना देता है और ज्यादातर घरों की शोभा बढ़ाने के लिए लगाया जाता है.

अर्जुन का पेड़ का हिंदू धर्म में बहुत ही महत्व है कहा जाता है कि यह माता सीता का पसंदीदा पेड़ था तथा हमेशा हरा भरा रहता है. यह पेड़ भी पर्यावरण में ऑक्सीजन छोड़ता है.

जामुन का फल हम सभी को बहुत ही पसंद होता है. फल के साथ-साथ जामुन का पेड़ पर्यावरण के लिए बहुत अच्छा माना जाता है. यह पेड़ सल्फर डाइ ऑक्साइड और नाइट्रोजन जैसी गैसों को हवा से सोखकर ऑक्सीजन उत्पन्न करता है.