सिटी न्यूज़

UP City News | Jun 08, 2021 05:26 PM IST

इन तस्वीरों में जानें, क्या है आगरा के पारस अस्पताल के मौत की मॉक ड्रिल का मामला

शहर आगरा-दिल्ली हाईवे पर स्थित पारस हॉस्पिटल के संचालक डॉ अरिंजय जैन का सोमवार को एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है. जिसमें डॉ. अरिंजय जैन हॉस्पिटल में भर्ती कोविड-19 मरीजों के ऊपर की गई आक्सीजन हटाए जाने की मॉक ड्रिल की बात कर रहे हैं.

आगरा-दिल्ली हाईवे पर स्थित पारस हॉस्पिटल के संचालक डॉ अरिंजय जैन का सोमवार को एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है. जिसमें डॉ. अरिंजय जैन हॉस्पिटल में भर्ती कोविड-19 मरीजों के ऊपर की गई आक्सीजन हटाए जाने की मॉक ड्रिल की बात कर रहे हैं.

26 अप्रैल-2021 को कोविड-19 के भर्ती 96 मरीजों की मॉक ड्रिल में 5 मिनट तक ऑक्सीजन हटाई गई थी. इससे गंभीर 22 मरीजों की हालत खराब हो गई थी. वीडियो वायरल होने से जिले में हड़कंप मच गया है.

ad ad

पारस हॉस्पिटल के संचालक डॉ. अरिंजय जैन का सोमवार को जो वीडियो वायरल हुआ, उसमें वह अपने हॉस्पिटल में कोविड-19 के 96 मरीजों के भर्ती होने की बात कह रहे हैं. सामने बैठे लोगों को बता रहे हैं कि, जब अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी होने लगी तो उन्होंने 26 अप्रैल सुबह 7 बजे एक मॉक ड्रिल की थी.

यह ऑक्सीजन मॉक ड्रिल थी. जो 5 मिनट तक चली. जिसमें सभी मरीजों की ऑक्सीजन आपूर्ति को रोक दी गई थी. जिससे या अस्पताल में भर्ती 22 मरीजों की हालत गंभीर हो गई थी. वहीं, वायरल वीडियो में हॉस्पिटल संचालक कह रहे हैं कि, आगरा का कोई भी अधिकारी या सरकार के लोग ऑक्सीजन की कमी को पूरा नहीं कर रहे थे इसलिए उन्होंने यह मॉक ड्रिल अपनाया था.

UP City News, Up news, Up hindi news, Agra news, Paras Hospital, Inspection Team, Report, Mockdrill, Oxygen, Congress, Protest

डॉ. अरिंजय जैन का वीडियो सामने आने के बाद आगरा के लोगों मे भी आक्रोश है. अब पीड़ित भी सामने आने लगे हैं. पीड़ित न्यू आगरा थाना में शिकायत करेंगे. मामले को सामाजिक कार्यकर्ता गजेंद्र शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट ले जाने की बात कही है. सामाजिक कार्यकर्ता नरेश पारस मामले की शिकायत एनएचआरसी और महामारी लोक शिकायत समिति से करेंगे.

आगरा के जिलाधिकारी ने अस्पताल को सीज करने की कार्रवाई का आदेश दिया है. इससे पहले अस्पताल से में भर्ती सभी मरीजों को वहां से दूसरे किसी अस्पताल में शिफ्ट किया जाएगा, जिसके बाद अस्पताल को सील कर दिया जाएगा. साथ ही साथ उसके संचालक डॉ अरिंजय जैन के खिलाफ महामारी एक्ट में मुकदमा भी दर्ज किया जाएगा.

मरीजों को शिफ्ट करने के साथ ही साथ अस्पताल को सील करने की कार्रवाई की जा रही है. इस दौरान अफसरों की मौजूदगी में हॉस्पिटल में जमकर हंगामा हुआ है. अस्पताल का स्टाफ और कांग्रेसी एक दूसरे के आमने-सामने आ गए, दोनों तरफ से जमकर नारेबाजी हुई.