सिटी न्यूज़

UP City News | Mar 02, 2021 06:39 PM IST

PHOTOS: बेजुबान जानवरों की सेवा कर मिसाल पेश कर रही है अलीसा सिंह

फ़िरोज़ाबाद ज़िली के शिकोहाबाद नगर की अलीसा सिंह ने ग्रेजुएट करने के बाद BBA जामिया विश्वविद्यालय से की. फिर MBA महात्मा गांधी विश्वविद्यालय से की. MBA पास करने के बाद अलीशा सिंह ने कुछ जानवर देखे जो किसी न किसी घटना दुर्घटना से अंग भंग हो गए है या बीमार है, तो उन्हें याद आया कि उनके भाई कहते थे ऐसे जानवर विमारी फैलाते है.

firozabad, Shikohabad, Shikohabad news, Shikohabad news today, Alisa Singh, फिरोजाबाद, शिकोहाबाद, शिकोहाबाद समाचार, शिकोहाबाद समाचार आज, अलीसा सिंह,

फ़िरोज़ाबाद ज़िले के शिकोहाबाद नगर की अलीसा सिंह ने ग्रेजुएशन BBA में जामिया विश्वविद्यालय से की. फिर MBA महात्मा गांधी विश्वविद्यालय से की. MBA पास करने के बाद अलीशा सिंह ने कुछ जानवर देखे जो किसी न किसी घटना दुर्घटना से अंग भंग हो गए है या बीमार है, तो उन्हें याद आया कि उनके भाई कहते थे ऐसे जानवर बीमारी फैलाते हैं.

firozabad, Shikohabad, Shikohabad news, Shikohabad news today, Alisa Singh, फिरोजाबाद, शिकोहाबाद, शिकोहाबाद समाचार, शिकोहाबाद समाचार आज, अलीसा सिंह,

उन्होंने सोचा क्यों न इन्हें एकत्र कर इनका इलाज कराया जाये इसके लिए एक सहारा बना जाे और उन्होंने बाई पास इटावा रोड काली मंदिर के पीछे ऐसे जानवरों के लिए एक आश्रय बनाया.

ad ad
firozabad, Shikohabad, Shikohabad news, Shikohabad news today, Alisa Singh, फिरोजाबाद, शिकोहाबाद, शिकोहाबाद समाचार, शिकोहाबाद समाचार आज, अलीसा सिंह,

इसमें कई गाय एक्सीडेंट से दोनो पैर गवा चुकी है. एक की रीढ़ की हड्डी में फ्रेक्चर है. कुछ बीमार हैं. साथ ही एक मोर के दोनो पैर कमर से टूटे है और चलने में असहाय है.

firozabad, Shikohabad, Shikohabad news, Shikohabad news today, Alisa Singh, फिरोजाबाद, शिकोहाबाद, शिकोहाबाद समाचार, शिकोहाबाद समाचार आज, अलीसा सिंह,

इन जानवरों में एक बंदर है, जिसका बिजली के करंन्ट से दोनो पैर कट गए हैं. ऐसे तमाम जानवरों का इलाज डॉ योगेन्द्र यादव के सहयोग से कराया जा रहा है.

firozabad, Shikohabad, Shikohabad news, Shikohabad news today, Alisa Singh, फिरोजाबाद, शिकोहाबाद, शिकोहाबाद समाचार, शिकोहाबाद समाचार आज, अलीसा सिंह,

असहाय जानवरों का ऐसा छोटा आश्रय या हॉस्पिटल कहेंगे जहाँ इनका इलाज हो रहा है. समाज मे पैसे की भूख काफी है. हर कोई सरकारी नौकरी को भागता है. ऐसे समय अलीशा का जॉब सराहनीय प्रशंसनीय है, जो लोग गाय को दूध पीकर छोड़ देते और जो समाज आम आदमी को समस्या होते हैं.