सिटी न्यूज़

परीक्षा में सॉल्वर बैठाकर तुम्हारी भी नौकरी लगवा दूंगा, यह ऑफर मिलने के बाद गैंग में शामिल हो गया था विकास

परीक्षा में सॉल्वर बैठाकर तुम्हारी भी नौकरी लगवा दूंगा, यह ऑफर मिलने के बाद गैंग में शामिल हो गया था विकास
UP City News | Sep 18, 2021 11:24 PM IST

वाराणसी. नीट साल्वर गैंग के खुलासे में लगी क्राइम ब्रांच ने शनिवार को मुखिया विकास महतो को पकड़ने में सफलता प्राप्त की है. उसका एक साथी भी पकड़ा गया गया है. दूसरे की जगह परीक्षा देते पिछले रविवार को बीएचयू की छात्रा को क्राइम ब्रांच ने पकड़ा था. अब तक इस मामले में बहन-भाई और मां समेत छह लोग गिरफ्तार हो चुके हैं.

अब तक छह लोग गिरफ्तार
बीते रविवार को पुलिस ने त्रिपुरा की हिना की जगह बीएचयू की छात्रा जूली को परीक्षा देते पकड़ा था. सारनाथ पुलिस टीम और क्राइम ब्रांच ने गैंग मुखिया विकास महतो के साथ राजू नामक युवक को भी पकड़ा है. दोनों के कब्जे से परीक्षा से संबंधित अभ्यर्थियों के शैक्षिक दस्तावेज, फोटोग्राफ, आधार कार्ड, एडमिट कार्ड, दो मोबाइल फ़ोन व एक लैपटॉप बरामद हुआ है.

पीके से मिला था विकास

विकास कुमार महतो ने बताया कि वह तीन वर्ष पहले खगड़िया से पटना आया था. परीक्षा की तैयारी के दौरान उसका परिचय गैंग के सरगना पीके उर्फ प्रेम कुमार उर्फ नीलेश से हुआ. उसने परीक्षाओं में साल्वर बैठाकर परीक्षा पास कराने की तरकीब बताकर रुपये कमाने की बातें बताई. यह भी कहा कि मौका मिलने पर उसकी भी किसी परीक्षा में सॉल्वर बैठाकर नौकरी लगवा दूंगा. तब से वह पीके के लिए काम करने लगा.

पीके का असली नाम नीलेश कुमार
पीके का असली नाम नीलेश कुमार पुत्र कमल वंश नारायण सिंह है. वह ग्राम सेंधवा थाना एकमा जनपद छपरा बिहार का मूल निवासी है. वर्तमान में बीएसएनएल एक्सचेंज के सामने पाटलिपुत्र जिला पटना बिहार में अपने परिवार के साथ रहता है. सॉल्वर बैठाकर नीट में एडमिशन के लिए केस उसके पास आते थे. गैंग के लोग नीट परीक्षा में बैठने वाले लड़के लड़कियों की तलाश करते थे जो कि फर्जी तरीके से परीक्षा पास करने के लिए पैसे दे सकें. ये लोग डॉक्यूमेंट व फोटो आदि रुपए लेकर पीके उर्फ प्रेम कुमार और नीलेश को भेज देते थे.