सिटी न्यूज़

प्रोफेसर की जमानत अर्जी नामंजूर, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर की थी अभद्र व अश्लील टिप्पणी

प्रोफेसर की जमानत अर्जी नामंजूर, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर की थी अभद्र व अश्लील टिप्पणी
UP City News | Jul 22, 2021 10:09 AM IST

फिरोजाबाद. सोशल मीडिया पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ अभद्र और अश्लील टिप्पणी करना प्रोफेसर शहरयार अली को भारी पड़ गया. उन्हें इस मामले में कोर्ट से भी राहत नहीं मिल सकी. जहां प्रोफेसर की जमानत अर्जी को कोर्ट ने खारिज कर दिया था, तो वहीं पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. बता दें कि इस मामले में प्रोफेसर के अलावा एक अन्य पर भी विवादित पोस्ट को आगे फॉर्वड करने पर मुकदमा दर्ज किया गया है.

मार्च 2021 में फिरोजाबाद के एसआरके डिग्री कॉलेज के इतिहास के विभागाध्यक्ष शहरयार अली ने फेसबुक पर एक पोस्ट शेयर की थी. जिसमें उन्होंने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ अमर्यादित और अश्लील टिप्पणी की थी. उनकी इस पोस्ट को हुवा खान ने भी आगे बढ़ाया था. केंद्रीय मंत्री के खिलाफ अश्लील टिप्पणी को लेकर बीजेपी नेता और नामित पार्षद उदय प्रताप ने रामगढ़ थाने में प्रोफेसर शहरयार अली और हुवा खान के खिलाफ केस दर्ज कराया था.

इस मामले में गिरफ्तारी से बचने के लिए अग्रिम जमानत के लिए लोअर कोर्ट, हाईकोर्ट तक में अर्जी लगाई थी लेकिन उन्हें कहीं से भी राहत नहीं मिली थी. बल्कि कोर्ट ने 15 दिन में इन्हें समर्पण करने का आदेश दिया था. अब अपर जिला जज फास्ट ट्रैक कोर्ट अनुराग शर्मा ने प्रोफेसर की जमानत अर्जी को खारिज करते हुए सुनवाई को 26 जुलाई की तिथि तय की है. इसके बाद प्रोफेसर की ओर से अंतरिम जमानत की अर्जी लगाई गई. कोर्ट ने उसे खारिज कर प्रोफेसर को जेल भेल दिया.