सिटी न्यूज़

इलाहाबाद हाईकोर्ट: भदोही के बाहुबली विधायक विजय मिश्र की जमानत अर्जी खारिज

इलाहाबाद हाईकोर्ट: भदोही के बाहुबली विधायक विजय मिश्र की जमानत अर्जी खारिज
UP City News | Jun 11, 2021 07:40 PM IST

प्रयागराज. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बाहुबली भदोही विधायक विजय मिश्र को जमानत पर रिहा करने से इनकार कर दिया है. उनकी जमानत अर्जी खारिज कर दी है. विजय मिश्र के विरुद्ध उनके रिश्तेदार कृष्ण मोहन तिवारी ने भदोही के गोपीगंज थाने मे मकान पर कब्जा करने, जान से मारने की धमकी देने और अपने बेटे के नाम वसीयत करने का दबाव डालने के आरोप में एफआईआर दर्ज कराई है. कोर्ट ने आरोपो की गंभीरता व अपराधों में संलिप्तता को देखते हुए विजय मिश्र की जमानत अर्जी खारिज कर दी है।

काम नहीं आईं वकील की दलीलें
यह आदेश न्यायमूर्ति ओम प्रकाश ने दिया है. अदालत में विजय मिश्र के अधिवक्ता का कहना था कि वह सम्मानित व्यक्ति है. अधिकांश केस मे बरी हो चुका है या मुकदमे वापस ले लिए गए हैं. जो बचे  हैं राजनीतिक प्रतिद्वंदिता के कारण दर्ज कराए गए हैं. प्रश्नगत मामले में आरोप निराधार है. कोई वसीयत नही की गयी है. मुकदमों का विचारण चल रहा है जिसमें वह सहयोग कर रहा है. बरी केस मे केवल एक के खिलाफ अपील लंबित है.

गंभीर आरोपों के केस हैं दर्ज
इसके जवाब में सरकार की तरफ से कहा गया कि याची की दबंगई के चलते कोई एफआईआर दर्ज कराने की हिम्मत नहीं जुटा पाता है. विजय मिश्र पर हत्या, दुराचार जैसे जघन्य आरोपों के केस दर्ज है. गवाह डर के मारे नहीं मिलते हैं. अगर जमानत दी गयी तो वह गवाहों पर,दबाव डालेगा.

पत्नी को भी नहीं मिल पाई थी जमानत
वाराणसी में बाहुबली विधायक विजय मिश्र की एमएलसी पत्नी रामलली मिश्रा को भी अदालत से झटका लगा है. दो सप्ताह पहले विशेष न्यायाधीश (भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम) पुष्कर उपाध्याय की अदालत ने आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में रामलली मिश्रा की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज कर दी थी. जमानत अर्जी का विरोध एडीजीसी विनय कुमार सिंह ने किया था. सतर्कता अधिष्ठान ने विधायक विजय मिश्रा और उनकी पत्नी एमएलसी रामलली मिश्रा के खिलाफ प्रयागराज के हंडिया थाने में बीते 17 जनवरी को भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था.