सिटी न्यूज़

Prayagraj : पोस्टमार्टम के बाद चारों मृतकों का शव पहुंचा घर, तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस तैनात

Prayagraj : पोस्टमार्टम के बाद चारों मृतकों का शव पहुंचा घर, तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस तैनात
UP City News | Nov 26, 2021 04:28 PM IST

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (Prayagraj) के फाफामऊ थाना (fafamau police station) क्षेत्र के गोहरी मोहनगंज बाजार में गुरुवार देर रात एक ही परिवार के 4 लोगों की नृशंस हत्या के मामले में शवों का पोस्टमार्टम हो गया है. चारों शवों को उनके आवास पर लाया गया है. जहां मौके पर तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है. परिजन आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग को लेकर अंतिम संस्कार न करने पर अड़े हुए हैं. मौके पर मौजूद एसपी गंगा पार अभिषेक अग्रवाल, एसडीएम सोरांव और सीओ सोरांव परिजनों को समझाने बुझाने में लगे हैं. अधिकारियों की ओर से अब तक 16 लाख के मुआवजे की बात कही जा रही है, लेकिन परिजन आरोपियों को फांसी दिए जाने की मांग कर रहे हैं.

वहीं मौके पर पहुंचे अपना दल के सोरांव विधायक जमुना प्रसाद सरोज को भी परिजनों की नाराजगी का सामना करना पड़ा है. परिजनों ने उन्हें मौके से चले जाने के लिए कह दिया है. इसके साथ ही साथ कई अन्य दलों के भी नेता मौके पर मौजूद रहे. वहीं अब तक इस मामले ने पुलिस ने नामजद 11 आरोपियों में से 8 लोगों को हिरासत में लिया है. एक आरोपी कुलदीप महीनों से रीढ़ की हड्डी में चोट के चलते बिस्तर पर है. वहीं दो आरोपी मुम्बई में रह रहे हैं. हिरासत में लिये गये आरोपियों से पुलिस पूछताछ कर रही है. पुलिस को जांच में कई अहम सुराग मिले हैं.

जिससे पुलिस जल्द मामले का जल्द खुलासा कर सकती है. मृतक फूलचंद के भाई की तहरीर पर फाफामऊ थाने में हत्या, दुष्कर्म, पाक्सो एक्ट और एससी एसटी एक्ट में केस दर्ज हुआ है. पोस्टमार्टम में सिर पर गंभीर चोट लगने से मौत की पुष्टि हुई है. दुष्कर्म की आशंका पर मां बेटी की स्लाइड भी सुरक्षित की गई है. मामले में डीआईजी ने फाफामऊ इंस्पेक्टर राम केवल पटेल और सिपाही सुशील सिंह को निलंबित करने की कार्रवाई की है. गौरतलब है कि गुरुवार रात घर के में सो रहे 50 वर्षीय फूलचंद उनकी पत्नी पत्नी 45 वर्षीय मीना देवी, 17 वर्षीय बेटी सपना और 12 साल के बेटे शिव की धारदार हथियार से हमला कर नृशंस हत्या कर दी गई थी.

Prayagraj में एक ही परिवार के 4 लोगों की धारदार हथियार से हत्या, सनसनी

हत्या के पीछे जमीन और रास्ते का विवाद बताया जा रहा है. वहीं इस पूरे मामले को लेकर सियासत भी तेज हो गई है। विधानसभा चुनाव नजदीक देख सभी राजनीतिक दलों के नेता मौके पर पहुंच अपनी सियासी रोटियां सेक रहे हैं. मौके पर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा भी यहां पर पहुंचने वाली है. प्रियंका गांधी वाड्रा परिजनों से मुलाकात कर उन्हें ढ़ाढस बधायेंगी.