सिटी न्यूज़

मुस्लिम युवक ने शुरू की तिरंगा पद यात्रा, पढ़ें इसके पीछे की वजह

मुस्लिम युवक ने शुरू की तिरंगा पद यात्रा, पढ़ें इसके पीछे की वजह
UP City News | Aug 06, 2022 08:34 AM IST

प्रतापगढ़. जब बात देश की आती है तो ऐसा कौन है जो देश के प्रति अपनी मोहब्बत का इजहार नहीं करना चाहता होगा? इस बार देश आजादी का 75 साल पूरा होने पर अमृत महोत्सव मनाने वाला है. ऐसे में पूरे देश में एक जश्न का माहौल है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान के बाद अलग-अलग तरीके से हर वर्ग के लोग आजादी के अमृत महोत्सव में कुछ खास करने के लिए उतावले नजर आ रहे हैं. एक तरफ जहां पूरे देश में हर घर तिरंगा लगाने की मुहिम चल रही है तो वहीं प्रतापगढ़ के रहने वाले मोहम्मद कासिम ने में अनोखी पहल की है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यों से प्रभावित होकर वो तिरंगा पदयात्रा पर निकल रहे हैं. प्रयागराज से लखनऊ की दूरी 210 किलोमीटर है लेकिन अलग.अलग गांव से होकर गुजरने के बाद यात्रा 250 किलोमीटर से ज्यादा की होगी. सिर पर टोपी लगाए मोहम्मद कासिम इस पद यात्रा की शुरुआत प्रयागराज के महाऋषि भारद्वाज आश्रम से शुरू की है. यह पदयात्रा मुख्यमंत्री आवास पर पहुंचकर पूरी होगी.

मोहम्मद कासिम बताते हैं कि सभी देशवासियों को आजादी व्यक्त करना इस मिली है. आजादी के लिए क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद वीर अब्दुल हमीद महात्मा गांधी जैसे महान क्रांतिकारी लोगों ने देश की आजादी के लिए अपनी कुर्बानी दी है. ऐसे में उस समय को याद करते हुए तिरंगा पद यात्रा पर निकलने का विचार मन में आया है. योद्धाओं ने अपने आप को देश के लिए समर्पित किया और उन्हीं के बलिदान से प्रेरित होकर मैं इस यात्रा पर निकल रहा हूं.

आजादी के अमृत महोत्सव के लिए गोरखपुर की ये महिलाएं 51 हजार झंडे बनाएंगी

उनका कहना है कि मुश्किल हालातों से देश को आजादी मिली है ऐसे में खुद को एहसास दिलाने के लिए यह संकल्प लिया है. तिरंगा यात्रा जिन जिन गांवों से होकर गुजरेगी वहां लोगों को देश के प्रति अपना योगदान देने के लिए प्रेरित करेंगे. कासिम ने यह भी कहा कि भले ही पांव में छाले पड़ गए फिर भी इस यात्रा को 10 दिन में जरूर पूरा करेंगे.