सिटी न्यूज़

योगी मंत्रिमंडल के विस्तार से पहले संजय निषाद के बदले सुर, यहां जानें भाजपा की तारीफ में क्या कहा

योगी मंत्रिमंडल के विस्तार से पहले संजय निषाद के बदले सुर, यहां जानें भाजपा की तारीफ में क्या कहा
UP City News | Jul 21, 2021 09:38 PM IST

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश में योगी मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द हो सकता है. इस बीच अब निषाद पार्टी के अध्यक्ष डा. संजय निषाद सुर बदले नजर आ रहे हैं. अब तक मोदी मंत्रिमंडल विस्तार में बेटे प्रवीण निषाद को जगह न मिलने से नाराज संजय निषाद की भाजपा के साथ की बात कह रहे हैं. संजय निषाद ने कहा कि भाजपा से अब उनकी कोई भी नाराजगी नहीं है. वह 2022 का विधानसभा चुनाव भाजपा से ही मिलकर लड़ेंगे.

भाजपा से अलग होने के बयान पर सफाई
संजय निषाद ने सफाई दी कि उन्होेंने बीजेपी से अलग होने की धमकी कभी नहीं दी थी . बीजेपी ही ऐसी पार्टी है जो सत्ता में रहते हुए निषाद समुदाय को उसका हक दिला सकती है और उसकी समस्याओं को दूर कर सकती है. दूसरी पार्टियों ने वोट लेने के बावजूद निषाद समुदाय के लिए कुछ नहीं कहा किया है. बीजेपी नेताओं द्वारा किए गए वादे पर निषाद समुदाय को पूरा भरोसा है.

यूपी के निषाद समाज का नेता होने का दावा
संजय निषाद ने दावा किया कि यूपी का निषाद उन्हें अपना नेता मानता है. निषाद समाज उनकी निषाद पार्टी के साथ है. बीजेपी के साथ नहीं. चूंकि बीजेपी सत्ता में है, इसलिए उनकी पार्टी विधानसभा चुनाव में भी बीजेपी के साथ ही रहेंगी. संजय निषाद ने कहा कि उनका मकसद मंत्री या उप मुख्यमंत्री बनना नहीं बल्कि अपने समाज को उसका अधिकार दिलाना है. इसलिए बीजेपी से नाराजगी का कोई सवाल ही नहीं उठता है.

सपा ने निषाद समाज का सिर्फ इस्तेमाल किया
डा. संजय निषाद ने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर भी जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि वह सिर्फ निषाद वोटों का बंटवारा करना चाहते हैं. चार बार सत्ता में रहते हुए समाजवादी पार्टी ने निषादों के लिए कुछ भी नहीं किया है. संजय निषाद ने आरोप लगाया कि फूलन देवी के नाम का इस्तेमाल तो किया लेकिन उनके समाज को कुछ नहीं दिया. मनोहर कोरी की प्रतिमा का अनावरण सिर्फ दिखावा है. डा. संजय निषाद ने कहा कि निषाद समाज इस बार एकजुट है और एक होकर ही विधानसभा चुनाव में वोट करेगा. विधानसभा चुनाव में निषाद वोटों का बंटवारा नहीं होगा.