सिटी न्यूज़

प्रयागराज के बेरी अस्पताल में महिला के नमाज पढ़ने पर असदुद्दीन ओवैसी ने किया ट्वीट, पढ़िए पूरी खबर

प्रयागराज के बेरी अस्पताल में महिला के नमाज पढ़ने पर असदुद्दीन ओवैसी ने किया ट्वीट, पढ़िए पूरी खबर
UP City News | Sep 23, 2022 10:52 PM IST

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के जनपद प्रयागराज के बेली अस्पताल में महिला द्वारा हॉस्पिटल के वार्ड में नमाज पढ़े जाने का मामला सामने आया है. जिसके बाद एम आई एम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने अपने ट्वीट में नमाज पढ़ने वाली महिला के खिलाफ एफआईआर दर्ज किए जाने का दावा किया है. नमाज पढ़ने के मामले पर एफआईआर दर्ज करने को गलत बताया है. इसके साथ ही पुलिस ने असदुद्दीन ओवैसी के दावे का खंडन करते हुए कहा महिला के खिलाफ कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई.

पुलिस ने प्रेस नोट जारी कर कहा महिला के खिलाफ कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है. महिला की एक रिश्तेदार इस अस्पताल में भर्ती हैं. महिला ने एक किनारे नमाज अदा करते हुए अपने रिश्तेदार की सलामती के लिए दुआ की थी. महिला द्वारा पढ़ी गई नमाज से अस्पताल के काम या मरीजों को कोई व्यवधान नहीं हुआ. महिला के नमाज पढ़ने का मामला कतई अपराध की श्रेणी में नहीं आता है.

कुछ लोग गलत जानकारी के साथ मामले को बेवजह तूल दे रहे हैं. पुलिस ने एफआईआर दर्ज किए जाने से साफ इनकार किया है. प्रयागराज पुलिस के खंडन के बाद असदुद्दीन ओवैसी को सोशल मीडिया पर ट्रोल भी किया जा रहा है. तमाम लोगों ने कमेंट करते हुए कहा है कि ओवैसी को पूरी जानकारी लेने के बाद ही किसी मामले पर टिप्पणी करनी चाहिए.

इससे पहले ओवैसी ने ट्वीट कर कहा अस्पताल में भर्ती अपने रिश्तेदार की देख-भाल करने वाले किसी कोने में, किसी को तकलीफ़ दिए बग़ैर,अपने मज़हब के मुताबिक़ इबादत करते हैं तो इस में जुर्म क्या है? क्या UP पुलिस के पास कोई और काम नहीं है? जहां भी नमाज़ पढ़ी जाती है, वहां नमाज़ियों पर FIR दर्ज हो जाती है.

प्रयागराज पुलिस का कहना है कि वायरल वीडियो की जांच में पाया गया कि वीडियो में दिख रही महिला के द्वारा बिना किसी गलत इरादे, किसी के भी कार्य अथवा आवागमन को प्रभावित किए बिना चिकित्सालय में भर्ती अपने मरीज की शीघ्र स्वस्थ होने हेतु प्रार्थना करते हुए नमाज अदा की गई. उनका यह कृत्य किसी अपराध की श्रेणी में नहीं आता है.

बेली अस्पताल के अधीक्षक डा. एमके अखौरी ने बताया कि सूचना मिलने पर वहां गए. नमाज पढ़ने वाली महिला को चेतावनी दी. साथ ही इसकी अनदेखी करने वाली वार्ड प्रभारी शबनम राय को भी चेतावनी दी गई. बताया कि मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं.