सिटी न्यूज़

फर्जी मुकदमे लिखाने वालों की अब खैर नहीं! बेगुनाहों को बचाने के लिए मुरादाबाद पुलिस ने शुरू की मुहिम

फर्जी मुकदमे लिखाने वालों की अब खैर नहीं! बेगुनाहों को बचाने के लिए मुरादाबाद पुलिस ने शुरू की मुहिम
UP City News | Jun 11, 2021 02:55 PM IST

मुरादाबाद: फर्जी मुकदमे लिखाने वालों की अब खैर नहीं. अक्सर आपने देखा होगा कि लोग दूसरों को फसाने के लिए रंजिशन फर्जी मुकदमे लिखवा देते हैं और बेगुनाह लोग उसकी सजा भुगतते हैं इसी को लेकर मुरादाबाद पुलिस ने एक मुहिम चलाई है. इसके तहत जांच पड़ताल कर अब मुकदमें लिखने जाएंगे. यदि कोई केस झूठा निकलता है तो कार्रवाई की जाएगी.

प्रथम सूचना रिपोर्ट लिखने के बाद पूरे मामले की गंभीरता से जांच कर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी. जब इस बावत एसपी देहात विद्यासागर मिश्रा से बात की गई तो उनका कहना था कि अपने साथी और पड़ोसी को व्यक्तिगत रंजिश निकालने के लिए या व्यावसायिक हित को साधने के लिए फर्जी मुकदमा लिखवा देते हैं. प्रथम सूचना रिपोर्ट लिखना पुलिस की बाध्यता है, लेकिन विवेचना में फर्जी साक्ष्य प्रस्तुत करने पर पुलिस धारा 182 के तहत माननीय न्यायालय को रिपोर्ट प्रेषित करती है ताकि ऐसे फर्जी मुकदमे लिखवाने वाले प्रवृत्ति के लोगों को सबक मिलना चाहिए. जिसमें आरोपी को छह माह की सजा या एक हजार रुपये का जुर्माना होता है.

मुरादाबाद पुलिस ने 1 साल के आकलन के बाद ऐसे मामलों पर कार्रवाई के लिए माननीय न्यायालय को अपील दाखिल की है. सबसे ज्यादा ऐसे मामले मुरादाबाद के ठाकुरद्वारा थाना क्षेत्र में सामने आए हैं. इस थाने में 9 मामले फर्जी पाये गए हैं. ऐसी प्रवृत्ति के लोगों को हतोत्साहित करने का प्रयास किया जा रहा है. ताकि लोगों को हौसले पस्त हों और बेगुनाह को सजा न मिल सके.