सिटी न्यूज़

अपनों को छोड़-छोड़ कर भाग रहे हैं परिवार वाले, अस्पताल परेशान

अपनों को छोड़-छोड़ कर भाग रहे हैं परिवार वाले, अस्पताल परेशान
UP City News | May 05, 2021 11:19 AM IST

मुरादाबाद. कोरोना की दूसरी लहर में मृत्युदर बढ़ गई है. खौफ इतना अधिक है कि अपने अपनों का भी साथ छोड़ रहे है. संक्रमितों और अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों को जिला अस्पताल में भर्ती कराने के बाद तीमारदार उनकी सुध लेने भी नहीं आ रहे हैं. कई मामलों में तो तीमारदारों ने अपने नंबर तक गलत दर्ज करा दिए हैं. ऐसे में स्वास्थ्यकर्मियों के लिए परेशानी खड़ी हो गई है.

जिला अस्पताल में प्रतिदिन सौ से डेढ़ सौ मरीज पहुंचते हैं. जिला अस्पताल में मरीज का नाम, उसे लाने वाले का नाम और मोबाइल नंबर अंकित किया जाता है. हालांकि कोरोना की दूसरी लहर में लोगों के मन में इतना खौफ हो गया है कि लोग अपनों को जिला अस्पताल में छोड़कर भाग रहे है. ये लोग अपने मोबाइल नंबर और पते भी गलत लिखा जाते हैं. ऐसे में तीमारदारी की जिम्मेदारी भी स्वास्थ्यकर्मियों को भी निभानी पड़ रही है. जिला अस्पताल में अब तक ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं.

जिला अस्पताल के चिकित्सकों का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक है. इसमें बचाव के उपाय करना बहुत अहम है लेकिन लोगों के मन में खौफ है और लोग अपनों का भी साथ नहीं दे रहे हैं. इस कारण मरीज अकेलेपन में टूट रहा है. चिकित्सकों की मानें तो कोरोना संक्रमित के साथ ही अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों को भी अपनों का साथ नहीं मिल रहा है. चिकित्सकों ने बताया कि लावारिस हालत में छोड़े गए मरीजों के बारे में पुलिस को जानकारी दी जा रही है.

शव गेट पर छोड़कर भाग चुके हैं परिजन
स्वास्थ्य कर्मियों के अनुसार, विगत शनिवार को एक कार में कुछ लोग जिला अस्पताल पहुंचे थे. उन्होंने कार से एक शव निकालकर स्ट्रेचर पर रखा और फरार हो गए. बाद में होमगार्ड ने शव देखा तो चिकित्सकों और पुलिस को सूचना दी. चिकित्सकों के अनुसार, शव अधेड़ का था और उसकी किसी अन्य बीमारी से मौत हुई थी. हालांकि जिला अस्पताल में शव क्यों छोड़ा गया, जानकारी नहीं हो सकी. पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है.