सिटी न्यूज़

जीत को लेकर आश्वसत हैं आजम खान, तो फिर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करने पर क्यों कर रहें विचार

जीत को लेकर आश्वसत हैं आजम खान, तो फिर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करने पर क्यों कर रहें विचार
UP City News | Jun 25, 2022 01:49 PM IST

रामपुर. रामपुर की लोकसभा सीट के लिए रविवार को मतदान हो गया. हालांकि यहां पर पिछली बार के मुकाबले मतदान प्रतिशत कम रहा. जिसके लिए सपा के कद्दावर नेता और इसी सीट से सांसद रहे आजम खान ने कहा है कि वह इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करने पर विचार कर रहे हैं. हालांकि वह अपनी जीत के लिए भी आश्वस्त हैं. उन्होंने कहा कि हम जीतेंग लेकिन फिर दोबारा उचुनाव कराना चाहते हैं. वहीं उन्होंने अखिलेश यादव से रिश्ते में दूरी वाले सवाल पर कहा कि कोई दूरी नहीं है, हां कुछ बातों की तकलीफ जरूर है.

मतदान के दौरान आजम खां उनके विधायक बेटे अब्दुल्ला आजम कम मतदान को लेकर पुलिस पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि पुलिस के आतंक की वजह से मतदान प्रतिशत कम रहा. आजम खान बोले थे कि दरोगा एक शरीफ वोटर को जिसका कोई कुसूर ना हो उसे मारे पीटे. उसका गला दबाए. जब एक ही व्यक्ति के साथ इतना अन्याय होगा तो कौन घर से निकलकर वोट डालने के लिए आएगा. उन्होंने कहा कि हम सब को लेकर सुप्रीम कोर्ट जाने का पर विचार कर रहे हैं.

चुनाव परिणाम आएगा तो हम जीत रहे होंगे. अगर मतगणना में धांधली न हो तो हम जीतेंगे. उन्होंन कहा कि इसको भी दरकिनार करना चाहते हैं और उपचुनाव दोबारा हो इसके लिए सुप्रीम कोर्ट जाएंगे. कहा कि अधिकारियों ने लाठी बरसाई. महिलाओं को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा. 1 घंटे तक तमदान प्रक्रिया रुकी रही. पुलिस की वजह से मतदान प्रतिशत कम हुआ. यह लोकतंत्र का कत्ल है. उन्होंने आगे कहा कि कहा कि मंडलायुक्त पर रामपुर की बर्बादी का दाग है.

उपचुनाव के दौरान सपा नेता आजम खान का बयान, जानें क्यों कहा- हमसे बड़ा अपराधी कौन है?

उन्हों यह बस्ती पसंद नहीं आती. बस्ती क्यों पसंद नहीं आती इस पर सवाल के जवाब में कहा कि शायद यहां पर कुछ सड़कें और गलियां बन गईं हैं. बच्चों के लिए स्कूल बन गए हैं. इसलिए पसंद नहीं आती हो. उन्होंने कहा कि हमने चुनाव आयोग से मांग की है कि चाहे कितनी ही अधिकारी भेज दें लेकिन मंडलायुक्त को ना आने दें. मंडलायुक्त मतगणना में आएंगे तो बेइमानी कराएंगे. विधानसभा चुनाव में भी वो दो जगह गए और दोनों जगह पर सपा हार गई.