सिटी न्यूज़

बसपा नेताओं के होटल में चले जाने पर जिलाध्यक्ष का इस्तीफा, बोले- होटल में ठहराने की मेरी हैसियत नहीं

बसपा नेताओं के होटल में चले जाने पर जिलाध्यक्ष का इस्तीफा, बोले- होटल में ठहराने की मेरी हैसियत नहीं
UP City News | Jun 19, 2021 10:37 AM IST

मिर्जापुर. उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले में बसपा के जिलाध्यक्ष रामाश्रे भारती ने शुक्रवार की रात अपनी पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों के आचरण से खिन्न होकर अपने पद से इस्तीफा दे दिया. शनिवार को वीरपुर में आयोजित बैठक में शामिल होने के लिए इनमें सेक्टर प्रभारी डॉ विलय प्रताप, पन्नालाल और गुड्डू राम पार्टी का संदेश लेकर शुक्रवार की शाम सड़क मार्ग से पहुंचे थे. जिनकी आगवानी जिलाध्यक्ष ने कटरा कोतवाली क्षेत्र के मुंहकुंचवा में किया. पहले से आरक्षित अष्टभुजा गेस्ट हाउस में लेकर पहुंचे थे. कुछ देर बाद ही तीनों पदाधिकारी अचानक गायब हो गए. इस दौरान दूसरे कमरे में जिलाध्यक्ष भोजन की व्यवस्था कर ने में लगे थे.

बाहर आने पर तीनों पदाधिकारी अचानक से गायब मिले. जिनके बारे में इतना ही पता चला कि वह सब गाड़ी से निकल गए. इस पर जिलाध्यक्ष ने गुड्डू राम के मोबाइल पर रिंग किया तो कुछ देर बाद बताने को कहा गया. अचानक अपने पदाधिकारियों के चले जाने से जिलाध्यक्ष परेशान हो गए. करीब 45 मिनट बाद किसी अनहोनी के झंझावात में फंसे जिलाध्यक्ष को जंगी रोड़ स्थित होटल में ठहरने की जानकारी दी गई. बिना अवगत कराए होटल में आकर रुकने से व्यथित होकर रामाश्रे ने जिलाध्यक्ष पद से इस्तीफा लिख डाला.

पत्र में उन्होंने लिखा है कि मेरी हैसियत इतनी नहीं है की इनको बड़े होटल में ठहरा सकूं इससे मुझे काफी दु:ख हुआ है. इसलिए मैं अपने जिलाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहा हूं. बैठक में शामिल होने के लिए तीनों पदाधिकारी जिले में पहुंचे थे जिनकी राघवानी शंकर करीब 6:00 बजे मोको चौहान में जिलाध्यक्ष ने किया था. उन्हें लेकर अष्टभुजा डाक बंगले में पहुंचे रात्रि भोजन की व्यवस्था कर रहे थे. इसी दौरान तीनों पदाधिकारी अपनी गाड़ी में बैठकर निकल गए. अचानक अपने वरिष्ठ पदाधिकारियों के आचरण और अपनी आर्थिक हालत से खिन्न होकर रात करीब 9:00 बजे जिला अध्यक्ष ने अपना इस्तीफा लिखकर प्रेषित किया है.