सिटी न्यूज़

योगी मॉडल हिट: कोरोना के मामलों में कमी, कुल एक्टिव केस अब पांच हजार से भी कम

योगी मॉडल हिट:  कोरोना के मामलों में कमी, कुल एक्टिव केस अब पांच हजार से भी कम
UP City News | Jun 19, 2021 11:19 AM IST

लखनऊ. प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 3—टी फॉर्मूला कारगर साबित हुआ. प्रदेश में कोरोना के मामलों में खासी कमी आई है. विगत 24 घंटे में महज 294 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. वर्तमान में प्रदेश में कोरोना के एक्टिव केसों की संख्या 5000 से भी कम है. अब प्रदेश भर में कोरोना के महज 4957 एक्टिव केस हैं. विगत 24 घंटे में 2.73 लाख जांच सैंपल लिए गए. पूरे प्रदेश में अब तक अब तक कुल 5.5 करोड़ टेस्ट हो चुके हैं, जो पूरे देश में किसी भी प्रदेश में किए गए टेस्टों में सर्वाधिक हैं. योगी मॉडल की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी तारीफ कर चुके हैं.

बता दें कि इस समय उत्तर प्रदेश की रिकवरी रेट 98.1 फीसदी है जबकि यहां प्रतिदिन औसतन 2.74 लाख टेस्ट किए जा रहे हैं. उत्तर प्रदेश अब तक पांच करोड़ 30 लाख टेस्ट करने वाला अकेला राज्य है. करीब एक लाख गांवों में 70,000 से अधिक निगरानी समितियों ने घर—घर जाकर की संक्रमितों की पहचान की और जरूरत के हिसाब से उनका उपचार ​भी किया है. गंभीर संक्रमितों को सबंधित अस्पतालों में भेजा जा रहा है जो लोग मामूली रूप से संक्रमित हैं उन्हें होम आइसोलेशन में रखकर उपचार किया जा रहा है.

इधर, कोरोना से बचाव के लिए प्रदेश भर में टीकाकरण का कार्य बहुत तेजी से किया जा रहा है. अब तक यूपी में 2.51 करोड़ लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका हैं. इनमें से 55 लाख युवाओं को टीका लग चुका है. इसके साथ ही प्रदेश सरकार अब वैक्सीनेशन के लिए आनलाइन रजिस्ट्रेशन की पाबंदी को समाप्त करने जा रही है. आगामी 21 जून से वैक्सीनेशन से पूर्व आनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं कराना होगा. स्वास्थ्य केंद्रों पर सीधे पहुंचकर कोरोना से बचाव के लिए टीका लगाया जा सकेगा.

प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार कुंद होने के बाद मुख्यमंत्री ने 21 जून से नाइट ​कर्फ्यू की समयावधि भी घटा दी है. सोमवार से प्रदेश भर में बाजार सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक खुल सकेंगे. इसके साथ ही पर्यटन उद्योग को राहत देते हुए योगी सरकार ने रेस्टोरेंट और होटल खोलने का भी निर्णय लिया है. हालांकि रेस्टोरेंट संचालकों को कोरोना से बचाव के लिए सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का कड़ाई से पालन करना होगा. प्रदेश में कोरोना की थमती रफ्तार प्रदेश के लोगों को राहत देने वाला है.