सिटी न्यूज़

योगी सरकार देगी तोहफा, प्रधानों, प्रमुखों व जिला पंचायत अध्यक्षों का बढ़ सकता है मानदेय

योगी सरकार देगी तोहफा, प्रधानों, प्रमुखों व जिला पंचायत अध्यक्षों का बढ़ सकता है मानदेय
UP City News | Dec 04, 2021 05:16 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के विधानसभा चुनाव (UP Assembly elections 2022) नजदीक हैं. अगले साल चुनाव होना है. ऐसे में योगी सरकार ने चुनावी साल में पंचायत प्रतिनिधियों को सौगात दी. योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार ने फैसला किया है कि पंचायत प्रतिनिधियों के मानदेय में वृद्धि की जाएगी. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ये वृद्धि करीब डेढ़ गुना तक हो सकती है और इस वृद्धि का एलान पंचायत प्रतिनिधियों का सम्मेलन आयोजित कर सरकार कर सकती है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सिद्धांत रूप में तीनों स्तर के पंचायत प्रतिनिधियों के मानदेय में वृद्धि के साथ प्रशासनिक व वित्तीय अधिकारों में वृद्धि पर रजामंदी हो गई है. बताया जा रहा है कि वृद्धि सपा शासनकाल में की गई वृद्धि से आनुपातिक रूप में अधिक रहने का अनुमान है. योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार के कार्यकाल में ग्राम पंचायतों, क्षेत्र पंचायतों व जिला पंचायतों के चुनाव में बड़ी संख्या में नए प्रतिनिधि चुनकर आए हैं.

UP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले ही क्लीन बोल्ड हो गए ये 257 नेता, नहीं लड़ पाएंगे चुनाव, जानिए क्यों

जब​कि ये नए प्रतिनिधि मानदेय व अधिकारों में वृद्धि की मांग करते रहे हैं. जबकि सीएम आदित्यनाथ जिला पंचायत अध्यक्षों का सम्मेलन कर उनकी बात सुन चुके हैं. इसके अलावा ग्राम प्रधानों के संगठनों से मुख्यमंत्री से लेकर अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज तक की कई दौर की वार्ता हो चुकी है. बता दें कि सपा सरकार ने 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले ग्राम प्रधानों का मानदेय 2500 से 3500 रुपये, क्षेत्र पंचायत प्रमुखों का 7000 से 9800 और जिला पंचायत अध्यक्षों का 10000 से 14 हजार रुपये किया था.