सिटी न्यूज़

यूपी टीईटी का पेपर लीक होने की गिरी गाज, परीक्षा नियामक प्राधिकारी निलंबित

यूपी टीईटी का पेपर लीक होने की गिरी गाज, परीक्षा नियामक प्राधिकारी निलंबित
UP City News | Nov 30, 2021 04:41 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी-टीईटी) का 28 नवंबर को पेपर लीक हो गया था. इसकी वजह से न सिर्फ पेपर को रद्द कर दिया गया था बल्कि बड़े पैमाने में पेपर लीक करने वाले गिरोह के सदस्यों को भी पकड़ा गया था. अब सरकार ने सख्त रूख अपनाते हुए सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय कुमार उपाध्याय को निलंबित कर दिया है. संभावना इस बात की भी है कि अभी कुछ और लोगों पर इसकी गाज गिर सकती है. दरअसल पेपर लीक होने के बाद सीएम ने न सिर्फ नाराजगी जताई थी बल्कि इसके गुनहगारों की संपत्ति जब्त करने और गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे.

दरअसल संजय कुमार उपाध्याय पर ये कार्रवाई परीक्षा शुरू होने से पहले पेपर लीक होने और परीक्षा की गोपनीयता बरकरार न रख पाने की वजह से की गई गई है. आदेश सचिव अनामिका सिंह की ओर से जारी किया गया है. जिसमें कहा गया है कि यूपी टीईटी की परीक्षा सही ढंग से न करा पाने और गोपनीयता के उच्चस्तरीय मापदंडो का सही से पालन न करने की वजह से ये कार्रवाई की गई है. ये आदेश 29 नवंबर को जारी किया गया. संजय कुमार को बेसिक शिक्षा निदेशक कार्यालय लखनऊ से अटैच किया गया है.

इस मामले में होगी कड़ी कार्रवाई

पेपर लीक होने के बाद सीएम योगी ने इस मामले में कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए है. उन्होंने कहा था कि न सिर्फ पेपर लीक करने वालों के घर पर बुलडोजर चलेगा बल्कि उनकी संपत्ति भी जब्त की जाएगी. इसके साथ उनका रासुका भी लगेगी. साथ ही गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी. पेपर लीक होने पर छात्रों की परेशानी को देखते हुए सीएम योगी ने परिवहन बसों में छात्रों को निशुल्क आने जाने की सुविधा करने के निर्देश दिए थे.