सिटी न्यूज़

सपा एमएलसी घनश्याम लोधी का पार्टी से इस्तीफा, दलितों की उपेक्षा का लगाया आरोप

सपा एमएलसी घनश्याम लोधी का पार्टी से इस्तीफा, दलितों की उपेक्षा का लगाया आरोप
UP City News | Jan 14, 2022 09:05 PM IST

लखनऊ. स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ कई विधायकों के बीजेपी छोड़कर सपा में जाने के बाद बीजेपी डैमेज कंट्रोल करने में जुट गई है. स्वामी प्रसाद मौर्य ने ये कहकर बीजेपी छोड़ी है कि बीजेपी में दलितों और पिछड़ों की उपेक्षा से वह आहत हैं. इसलिए वह पार्टी छोड़कर सपा में जा रहे हैं. अब बरेली-रामपुर क्षेत्र से सपा की तरफ से विधान परिषद सदस्य घनश्याम सिंह लोधी ने सपा को झटका दिया है. खास बात ये है कि लोधी ने भी यही कहकर सपा छोड़ी है कि पार्टी में दलितों और पिछड़ों की उपेक्षा से वह दुखी होकर पार्टी छोड़ रहे हैं.

दलितों के बहाने हो रही है राजनीति 

मतदान के ऐन पहले दलित राजनीति अचानक सियासी गलियारों में महत्वपूर्ण हो गई. स्वामी प्रसाद मौर्य ने मतदान के ऐन पहले ये कहकर जब बीजेपी छोड़ी कि पार्टी में दलितों और पिछड़ों की उपेक्षा से वह आहत हैं तो बीजेपी की चुनावी रणनीति धरी की धरी रह गई. खास बात ये है कि बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व भी जाने वाले नेताओं को रोकने में विफल रहा. स्वामी प्रसाद मौर्य के बाद धड़ाधड़ बीजेपी के कई विकेट गिरे और मौर्य के पीछे पीछे उनके समर्थक कहे जाने वाले विधायक मंत्री भी इस्तीफा देकर सपाई हो गई.

अब बीजेपी ने डैमेज कंट्रोल करने की कोशिश की है. ऐसे में घनश्याम लोधी ने भी दलितों की उपेक्षा की बात कहकर दलितों को साधने का प्रयास किया है. दलित राजनीति सपा और बीजेपी के लिए इसलिए और महत्वपूर्ण हो गई है क्योंकि कभी मायावती का वोट बैंक कहा जाने वाला दलित वोटबैंक बसपा में न जाकर पिछली बार बीजेपी में ट्रांसफर हो गया था. तब ये कहा गया था कि बसपा के कई बड़े नेता बीजेपी में शामिल हो गए हैं. इसलिए ऐसा हुआ है. अब यही कई नेता सपा में जा चुके हैं. ऐसे में बीजेपी और सपा इस वोटबैंक को अपनी अपनी तरफ करने में लगा है. हालांकि ये किस तरफ करवट लेगा. ये परिणाम आने के बाद ही पता चलेगा.