सिटी न्यूज़

प्रसपा नेता अमित जानी ने कांग्रेस का थामा दामन, प्रमोद कृष्णम से लिया आशीर्वाद

प्रसपा नेता अमित जानी ने कांग्रेस का थामा दामन, प्रमोद कृष्णम से लिया आशीर्वाद
UP City News | Jan 14, 2022 09:39 PM IST

लखनऊ. मतदान की तारीखों का ऐलान हो चुका है और दस फरवरी को पहले चरण का मतदान है लेकिन पार्टी बदलने वालों का दौर अभी भी जारी है. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का सपा से गठबंधन हो गया है. हालांकि कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही प्रसपा का सपा में विलय हो जाएगा. सपा प्रसपा के ज्यादातर नेताओं को शिवपाल के साथ अखिलेश का गठबंधन करना रास आया है क्योंकि इससे यादव वोट का बंटवारा नहीं होगा. इससे दोनों ही पार्टियों के उम्मीदवारों को फायदा होगा.

वहीं कुछ नेता ऐसे भी हैं जो अपने आपको इस गठबंधन के खांचे में फिट नहीं देख रहे थे. ऐसे में उन्होंने पार्टी बदलना ही सही समझा. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी युवजन सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित जानी ने प्रसपा का साथ छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लिया है. उनके कांग्रेस में शामिल होने पर गुरुवार को प्रियंका गांधी के राजनैतिक सलाहकार कल्कि पीठाधीश्वर आचार्य प्रमोद कृष्णम ने आशीर्वाद दिया. इस मौके पर राज्यसभा सदस्य व बिहार कैंपेन कमेटी के चैयरमैन अखिलेश प्रसाद सिंह मौजूद थे.

शिवपाल को होगा फायदा

शिवपाल यादव ने पार्टी जरूर बना ली थी कि लेकिन वह इस स्थिति में नहीं थे कि सरकार में भागीदारी निभा सकें. इसकी मुख्य वजय ये थी कि उनकी पार्टी चुनाव में कोई बहुत ज्यादा प्रभाव नहीं दिखा पाई. हालांकि उनका संगठन जरूर चलता रहता लेकिन भविष्य में भी ऐसे आसार नहीं लग रहे थे कि वह अपनी पार्टी को अपने दम आगे ले जा सकें. दरअसप जो सपा का वोटबैंक था. वही प्रसपा का वोट बैंक था. ऐसे में शिवपाल के साथ कुछ सीटों पर यादव वोटबैंक तो साथ आया लेकिन मुस्लिम वोटबैंक सपा के साथ ही रहा. सिर्फ कुछ यादव के साथ आने से शिवपाल इस स्थिति में नहीं थे कि पार्टी को आगे ले जा सकें. यही वजह थी कि उन्होंने बिना शर्त सपा से गठबंधन कर लिया और विलय करने पर भी तैयार हो गए.