सिटी न्यूज़

मौत के बाद आफत बना कोरोना, दाह संस्कार में घंटों इंतजार

मौत के बाद आफत बना कोरोना, दाह संस्कार में घंटों इंतजार
UP City News | Apr 08, 2021 02:01 PM IST

लखनऊ. यूपी की राजधानी लखनऊ के आसपास के कई जिलों में विद्युत शवदाह गृह नहीं होने से समस्या खड़ी हो गई है. कोरोना से मौत के बाद ज्यादातर लोग शव लेकर यहां आ रहे हैं. इसके चलते उन्हें दाह संस्कार करने के लिए घंटों इंतजार करना पड़ रहा है जिम्मेदार लोगों का कहना है के क्षमता से अधिक शव आने से ऐसी स्थिति बन गई हैं. इसके चलते मृतक के परिजनों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.

बुधवार को मेडिकल कॉलेज प्रयागराज से रिटायर्ड मिलिंद मुखर्जी के अंतिम संस्कार के लिए घरवाले सुबह से देर शाम तक बैकुंठ धाम भैसाकुंड पर बैठे रहे. इंतजार करने वालों में सिर्फ वही लोग नहीं थे और भी कई लोग वहां थे. लोगों के रोते—रोत आंसू सूख गए लेकिन दाह संस्कार के लिए नंबर बहुत ही देर से आया. इसके चलते लोगों को जबरदस्त परेशानी का सामना करना पड़ा. गौरतलब है कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी शव को दाह संस्कार को लेकर हो रही अव्यवस्थाओं पर सवाल खड़ा कर चुकी हैं. उनका कहना है कि मुख्यमंत्री कार्यालय मौतों का आंकड़ा सही नहीं दे रहा है.

शहर के आसपास के जिलों में विद्युत शवदाह गृह नहीं होने से वहां के शव राजधानी पहुंच रहे हैं. गुलाल घाट पर विद्युत शवदाह गृह की जिम्मेदारी देखने वाले कर्मचारी ने बताया कि आसपास के जिलों के शव आने से लाइन लग जाती है. बुधवार रात 10:00 बजे के आसपास तक 11 शव का अंतिम संस्कार किया गया. वैकुंठ धाम पर बुधवार देर रात तक सोलह का अंतिम संस्कार किया गया.