सिटी न्यूज़

भाजपा के लिए खतरे की घंटी बने पंचायत चुनाव परिणाम, 2015 के प्रदर्शन से काफी पीछे

भाजपा के लिए खतरे की घंटी बने पंचायत चुनाव परिणाम, 2015 के प्रदर्शन से काफी पीछे
UP City News | May 04, 2021 11:18 AM IST

खादिम अब्‍बास रिज़वी

लखनऊ. जैसे-जैसे यूपी के पंचायत चुनाव परिणाम आते जा रहे हैं वैसे वैसे भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के पेशानी पर बल पड़ते नजर आ रहे हैं इसकी वजह भी है उन्हें शायद ही उम्मीद रही होगी कि सपा, निर्दलीय, किसान और बागी उनका खेल बिगाड़ सकते हैं पर जो परिणाम आ रहे हैं वह इस ओर ही इशारा कर रहे हैं.

खासतौर पर अगर हम पश्चिमी उत्तर प्रदेश की बात करें तो इसके अधिकतर जिलों में किसान आंदोलन की नाराजगी और अल्पसंख्यकों के सपा पर जमकर भरोसा जताने से भाजपा के लिए मुश्किल खड़ी होती जा रही है. खासतौर से मेरठ, मुजफ्फरनगर, शामली जिलों में आरएलडी और सपा को बढ़त मिलती नजर आ रही है वहीं बाकी जिलो जैसे मथुरा में बसपा ने अपना परचम बुलंद किया है. यह बीजेपी के लिए मुश्किल घड़ी है.

इसी तरह अगर यादव लैंड यानी यादव बहुल जिलों के बारे में बात करें तो यह देखकर सचमुच हैरानी हो रही है. सपा ने शिवपाल यादव की प्रसपा के साथ मिलकर भाजपा को चक्रव्यूह में फंसा लिया है और इटावा, औरैया, मैनपुरी और कन्नौज की सीटों पर अपनी जीत का झंडा बुलंद कर दिया है. यहां दरअसल यह देखने को मिला प्रसपा जो शिवपाल यादव की पार्टी है उसने सपा के साथ मौन सहमति जताते हुए कई सीटें लड़ी हैं.

इसी तरह पूर्वांचल के इलाके पर गौर करें तो वहां से भी भाजपा के लिए कोई बहुत अच्छी खबर नहीं है. वाराणसी में सपा भाजपा पर भारी पड़ रही है. कुछ सीटों पर जरूर कांटे की टक्कर है. अयोध्या में भी सपा का परचम बुलंद हो रहा है. यहां आधी से ज्‍यादा सीटों पर सपा समर्थितों का कब्‍जा हो गया है. इसके बाद सपा की नजरें जिला पंचायत अध्‍यक्ष की कुुर्सी पर जम गईं हैं. हां सीएम के गृह जनपद गोरखपुर से जरूर भाजपा को थोड़ी राहत मिलती नजर आ रही है. यहां भाजपा समर्थित 26 उम्‍मीदवार आगे चल रहे हैं. जबकि सपा के 13, बसपा के 2 और कांग्रेस के एक और निर्दलीय 22 सीटों पर आगे हैं.

इसी तरह पूरे प्रदेश भर में सबसे ज्यादा नुकसान भाजपा को बागियों ने पहुंचाया है. भारी संख्या में बागियों के खड़े होने से भाजपा में भितरघात हुआ है जिसका परिणाम हार के रूप में सामने आया है यह बाकी कई जगह जीते हैं तो कई जगह उन्होंने भाजपा के उम्मीदवारों का करवाने का काम किया है इसी तरह निर्दलीय इस बार बड़ी संख्या में अर्जित करा रहे हैं हालांकि ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है लेकिन इनकी संख्या बढ़ना भाजपा के लिए अभी जरूर बुरी खबर हो सकती है लेकिन बाद में जिला पंचायतों पर कब्जा करने में यही बड़ी भूमिका निभा सकते हैं इसलिए भाजपा को निर्दलीयों से काफी उम्मीद है.

अब देखना यह है के 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी गांव के इस मैंडेट को कैसे अपनी और कर पाती है. यहां विश्लेषक एक सवाल यह भी उठा रहे हैं कि 2015 में जब भाजपा की सरकार नहीं थी तब करीब 1000 सीटों भाजपा के पास आई थी. प्रदेश की 75 जिला पंचायत में 3105 सीटें हैं. इस वक्‍त 2008 सीटों का रुझान आ चुका है और इसमें भाजपा 700 सीटों पर आगे चल रही है. इसमें और सीटें जोड़ दी जाएं तो भाजपा पिछले चुनाव वाले नंबर ही लाती दिख रही है, जो सत्ता में रहते हुए कम मालूम पड़ते हैं. वहीं विधानसभा चुनाव में साल भर से भी कम वक्त रह गया है ऐसे में वह कैसे रूठे मतदाताओं को अपनी और कर पाएगी, यह बड़ा सवाल है.

बरेली: जिला पंचायत में जीते ये प्रत्याशी
बरेली 
जिले में कुल सीटें- 60
भाजपा -12
सपा 18
बसपा 8
कांग्रेस - 0
अन्य 3
मतगणना जारी है.
 
पीलीभीत
जिले में कुल सीटें- 34
भाजपा -3
सपा -4
बसपा -1
कांग्रेस - 0
आप -1
मतगणना जारी है.

बदायूं
जिले में कुल सीटें- 51
भाजपा- 8
सपा -6
बसपा -0
कांग्रेस - 0
अन्य -3
मतगणना जारी है.

मेरठ
ज़िला पंचायत सदस्य पद की मतगणना जारी

6 सीट पर भाजपा समर्थित प्रत्याशी को बढ़त

9 सीट पर रालोद समर्थित प्रत्याशी को बढ़त

6 सीट पर सपा समर्थित प्रत्याशी को बढ़त

4 सीट पर बसपा समर्थित प्रत्याशी को बढ़त

8 सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी को बढ़त

मेरठ में 33 जिला पंचायत सदस्य के पद

अब तक घोषित नतीज़ों में सपा और रालोद समर्थित प्रत्याशी ने तीन तीन सीट जीती

वार्ड संख्या 1 से कुसुम जीतीं

वार्ड संख्या 2 से मुनेश जीते

वार्ड संख्या 3 से ईशा चौधरी जीतीं

वार्ड संख्या 4 से जोगिंदर विजयी

ग्राम प्रधान के 460 पद पर मतगणना पूर्ण

मऊ जिले में स्थिति
भाजपा- 3
समाजवादी पार्टी- 19
बसपा- 6
अन्य (निर्दलीय)- 6

कौशांबी जिले की स्थिति
भाजपा- 5
समाजवादी पार्टी- 5
बसपा- 0
अन्य/निर्दल- 16

बरेली जिले के रूझान/नतीजे
भाजपा- 22
समाजवादी पार्टी- 23
बसपा- 7
कांग्रेस- 3
अन्य/निर्दल-5

हाथरस जिला
भाजपा- 6
समाजवादी पार्टी- 3
बसपा- 1
अन्य - 14

बहराइच ज़िले का रूझान/नतीजे
भाजपा- 12
समाजवादी पार्टी- 14
बसपा- 11
कांग्रेस - 6
अन्य/निर्दल- 20

गाजियाबाद के अब तक परिणाम
पार्टी विजयी सदस्य
बसपा 05
भाजपा 02
रालोद 03
सपा 03
निर्दलीय 01

आगरा की स्थिति
भाजपा - 10
सपा - 05
बसपा- 03
निर्दलीय- 04

मथुरा जिला पंचायत चुनाव परिणाम एक नजर
कुल सीट 33/33
बसपा की 13 पर जीत
भाजपा की 8 पर जीत
रालोद की आठ पर जीत
सपा एक सीट पर जीती
अन्य तीन पर जीते
कुल पद-33

नोट: जो आंकड़ दिए गए हैं उसमें फेरबदल हो सकता है. मतगणना अभी जारी है.