सिटी न्यूज़

आपदा में अवसर: केजीएमयू व आरएलएम से इंजेक्शन चुराकर बेचने वाला गिरोह पकड़ा

आपदा में अवसर: केजीएमयू व आरएलएम से इंजेक्शन चुराकर बेचने वाला गिरोह पकड़ा
UP City News | Jun 10, 2021 06:24 PM IST

लखनऊ नकली जीवन रक्षक इंजेक्शन की आपूर्ति और असली इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले गिरोह लखनऊ पुलिस ने पर्दाफाश किया है. राजधानी के एक होटल में छापा मारकर कालाबाजारी करने वाले गिरोह के आधा दर्जन आरोपियों को दबोचा है.

ये सामान हुआ है बरामद
पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों के पास से लिपोसोमेन, एम्फोटेरिसिन- बीके 28 और रेमडेंसिविर के 18 इंजेक्शन बरामद किए हैं. उनके पास से आठ मोबाइल, एक कार, दो मोटरसाइकिल और 16 हजार रुपए बरामद किए हैं.

20 से 25 हजार में बेचते थे इंजेक्शन
पुलिस ने बताया कि इन आरोपियों ने आपदा में अवसर खोजा। ये लोग 20 से 25 हजार में इन इंजेक्शनों को बेचते थे. कोरोना एवं ब्लैक फंगस के इलाज में इस्तेमाल हो रहे इन इंजेक्शनों को किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सटी (केजीएमयू) और राम मनोहर लोहिया इमरजेंसी से चोरी किए जाते थे.

ये हुए हैं गिरफ्तार
गिरोह में आगरा के कस्बा बाह का निवासी डॉ. बामिक हुसैन भी शामिल है. पुलिस द्वारा गिरफ्तार लोगों में वह भी शामिल है.उसके अलावा हरदोई तंडियावा निवासी मोहम्मद आरिफ, कैसरबाग लखनऊ निवासी मोहम्मद इमरान, इटोजा रायपुर निवासी राजेश कुमार, आजमगढ़ निवासी मोहम्मद राकिब, अयोध्यापुरा बाजार निवासी बलवीर सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इन सभी को जेल भेज दिया है.