सिटी न्यूज़

मायावती ने गठबंधन करने से किया इंकार, कहा बीजेपी सरकार मुस्लिमों से कर रही सौतेला व्यवहार

मायावती ने गठबंधन करने से किया इंकार, कहा बीजेपी सरकार मुस्लिमों से कर रही सौतेला व्यवहार
UP City News | Nov 30, 2021 05:38 PM IST

लखनऊ. चुनावी मौसम है लिहाजा नेताओं का एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है तो कई ऐसे मुद्दे जो अभी तक नदारद थे. वह भी नेताओं को याद आ रहे हैं. अब मायावती को दलितों की याद सता  रही है. उन्होंने मंगलवार को प्रेस कान्फ्रेंस में कहा कि अल्पसंख्यक लोगों के खिलाफ फर्जी केस लिखे जा रहे हैं और बीजेपी सरकार उनसे सौतेला व्यवहार कर रही है. ये सौतेला व्यवहार उसकी कार्यशैली में साफ तौर पर दिखता है.

उन्होंने पार्टी के ओबीसी समाज के खातिर किए जा रहे कार्यों का बखान करते हुए कहा कि ओबीसी समाज के पदाधिकारियों की बैठक बुलाई गई थी. सभी सुरक्षित सीटों पर ओबीसी समाज के साथ अब जाट और मुस्लिमों को भी बसपा के साथ जोड़ने की जिम्मेदारी पदाधिकारियों को दी गई है. अगर ओबीसी समाज को आरक्षण मिला है तो ये बाबा साहेब की देन है.

उन्होंने कहा कि इस दौरान अल्पसंख्यक समाज के पदाधिकारी भी बुलाए गए. उन्होंने अल्पसंख्यक समाज पर फर्जी केस लिखे जाने की बात भी कही. साथ ही बीजेपी सरकार पर निशाना  साधते हुए कहा कि बीजेपी का अल्पसंख्यक लोगों के प्रति सौतेला रवैया अलग से दिखता है. उन्हें नए नए नियम बनाकर परेशान किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि मुस्लिमों की तरक्की रोकी जा रही है. उन्हें अलग अलग तरीके से परेशान किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने मंडल कमीशन की रिपोर्ट लागू नहीं करके ओबीसी समाज के साथ धोखा किया है. जबकि बीजेपी सरकार जातिगत जनगणना नहीं कर रहा रही हैै. उन्होंने कहा कि बसपा सरकार आने पर जाट सिख समाज का ध्यान रखा जाएगा.  सुरक्षित सीटों के अलावा सामान्य सीटों पर ओबीसी के साथ जाट मुस्लिम दलित और ब्राह्मण फार्मूला जीत की पटकथा लिखेगा। उन्होंने गठबंधन की अटकलों को विराम देते हुए कहा कि ओवैसी हो या फिर चंद्रशेखर किसी से भी गठबंधन बसपा नहीं करेगी. बसपा अकेले चुनाव लड़ेगी। साथ ही 12 निलंबित सांसदों के बारे में कहा कि इतना कड़ा रूख संसद को नहीं अपनाना चाहिए.