सिटी न्यूज़

जानिए कौन हैं बीजेपी का अजेय नेता; जो लगातार 9वीं बार बना एमएलए, शाहजहांपुर सदर सीट पर हर दिग्गज को दी पटकनी

जानिए कौन हैं बीजेपी का अजेय नेता; जो लगातार 9वीं बार बना एमएलए, शाहजहांपुर सदर सीट पर हर दिग्गज को दी पटकनी
UP City News | Aug 19, 2022 01:13 PM IST

लखनऊ. एक ही राजनीतिक दल. एक ही विधानसभा और एक ही नेता… फिर भी लगातार 9वीं बार यूपी विधानसभा पहुंचने वाले शाहजहांपुर सदर के विधायक सुरेश खन्ना बीजेपी के अजेय नेता बन गए हैं, साल 1989 से लेकर 2022 तक लगातार 9वीं बार विधानसभा का चुनाव जीता है. उनके सामने किसी भी पार्टी का दिग्गज नेता मैदान में आया हो. लगातार नौंवी बार चुनाव जीतने के साथ ही सुरेश कुमार खन्ना ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी के विश्व रिकार्ड की बराबरी कर ली है।

सुरेश कुमार खन्ना यूपी की 2.0 सरकार में भी कैबिनेट मंत्री हैँ और वित्त एवं संसदीय कार्य देख रहे हैँ. इससे पहले 2017 की यूपी सरकार में सुरेश कुमार खन्ना वित्त मंत्री थे और उनके पास वित्त, संसदीय कार्य, चिकित्सा शिक्षा विभाग रहे. खन्ना के कद का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 2022 में मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्रियों के बाद शपथ लेने वाले पहले वे मंत्री रहे.

खन्ना का जन्म 6 मई 1953 में शाहजहांपुर के दीवान जोगराज मोहल्ले में हुआ था. उनके पिता का राम नारायण खन्ना और माता का नाम कांति देवी है. खन्ना ने आगरा विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई की और फिर लखनऊ विश्वविद्यालय से एलएलबी की डिग्री हासिल की. सुरेश खन्ना अब तक अविवाहित हैँ.

छात्र जीवन से ही राजनीति में सक्रिय रहे हैं खन्ना
भारतीय जनता पार्टी में अपनी अलग छवि रखने वाले कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना को छात्र जीवन से ही राजनीति में रुचि थी. जीएफ कालेज में छात्र जीवन से राजनीति शुरू करने वाले सुरेश कुमार खन्ना ने 1980 में लोकदल से पहला चुनाव लड़ा, लेकिन हार गए. इसके बाद साल 1985 में भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें अपने टिकट पर चुनाव लड़ाया, लेकिन इस बार भी हार का मुंह देखना पड़ा.

साल 1989 से कायम है जलवा,
साल 1989 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने खन्ना पर फिर भरोसा जताया और उन्हें शाहजहांपुर सदर सीट से चुनाव लड़ाया. इस बार खन्ना ने शाहजहांपुर सदर सीट पर कमल खिला दिया और तब लेकर अब तक लगातार 9 बार सुरेश खन्ना शाहजहांपुर सदर सीट पर बीजेपी का झंडा लहराते आ रहे हैँ.

तत्कालीन मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के नेतृत्व वाली सरकार में दो बार और राम प्रकाश गुप्ता के नेतृत्व वाली सरकार में राज्यमंत्री भी रहे हैं। शाहजहांपुर शहर में विश्राम घाट पर खन्नौत नदी के बीचों-बीच 104 फुट ऊंची हनुमान जी की विशालकाय मूर्ति भी उन्होंने स्थापित कराई है. वह खुद को पूर्णकालिक राजनीतिक कार्यकर्ता मानते हैं.