सिटी न्यूज़

बढ़ीं मुश्किलें : नसीमुद्दीन सिद्दीकी के बाद अब उनके सेक्रेटरी से भी होगी पूछताछ

बढ़ीं मुश्किलें : नसीमुद्दीन सिद्दीकी के बाद अब उनके सेक्रेटरी से भी होगी पूछताछ
UP City News | Jul 22, 2021 11:21 AM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश सतर्कता अधिष्ठान (विजिलेंस) बसपा सरकार में 1400 करोड़ रुपये के स्मारक घोटाले के मामले में पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी और तत्कालीन सेक्रेटरी से पूछताछ करेगी. इस मामले में बाबू सिंह कुशवाहा भी आरोपी बनाए गए हैं. बता दें कि स्मारक घोटाले में पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी से गत 19 जुलाई को विजिलेंस ने 5 घंटे तक की पूछताछ की थी. बताया जा रहा है कि नसीमुद्दीन सिद्दीकी के तत्कालीन सेक्रेटरी से भी पूछताछ होगी.

गौरतलब है कि बसपा सरकार में 1400 करोड़ रुपये के स्मारक घोटाले में एक जनवरी 2014 को दर्ज मुकदमे में पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी और बाबू सिंह कुशवाहा आरोपी बनाए गए थे. मामले की सुनवाई एमपीएमएलए कोर्ट में चल रही है. अब विजलेंस दोनों पूर्व मंत्री पर शिकंजा कसती जा रही है. विगत दिनों चार अफसरों और दो पट्टाधारकों की गिरफ्तारी के बाद मिले साक्ष्यों के आधार पर विजिलेंस दोनों पूर्व मंत्रियों को बयान दर्ज कराने के लिए नोटिस भेजने पर विचार कर रही है.

बहुजन समाज पार्टी के पूर्व महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी तथा पूर्व प्रदेश अध्यक्ष राम अचल राजभर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था. दोनों ने एमपी एमएलए कोर्ट में सरेंडर करते हुए जमानत की अर्जी डाली थी, जिसे कोर्ट ने खारिज करते हुए दोनों को जेल भेज दिया था. बता दें कि 2016 में बीजेपी नेता दयाशंकर सिंह के परिवार की महिलाओं तथा उनकी बेटी के ऊपर अमर्यादित टिप्पणी करने के मामले में इन दोनों के ऊपर यह कार्रवाई की गई है. आपको बता दें कि इस मामले में बहुजन समाज पार्टी के तत्कालीन राष्ट्रीय सचिव मेवा लाल गौतम अतर सिंह राव नौशाद अली भी आरोपी है.