सिटी न्यूज़

लखनऊ में कोरोना से मरे लोगों के परिवार के लिए अनुग्रह सहायता राशि जारी, ऐसे करें आवेदन

लखनऊ में कोरोना से मरे लोगों के परिवार के लिए अनुग्रह सहायता राशि जारी, ऐसे करें आवेदन
UP City News | Nov 25, 2021 11:06 AM IST

लखनऊ. कोविड-19 से पीड़ित लोगों की मौत के बाद उनके परिजनों को पचास हजार रुपए की अनुग्रह राशि उत्तरप्रदेश सरकार देगी. Upcovid19tracks. in पोर्टल पर कोविड-19 के प्रारंभ से दिनांक 18-10- 2021 तक कोविड-19 से जनपद लखनऊ के 2651 मृतक व्यक्तियों के परिजनों/विधिक उत्तराधिकारी हेतु रुपए 50000 प्रति मृतक अनुग्रह सहायता धनराशि का आवंटन  उत्तर प्रदेश शासन द्वारा कर दिया गया है. अतः उक्त पोर्टल पर जनपद लखनऊ के दर्ज कुल 2651 मृतकों के विधिक उत्तराधिकारी कलेक्ट्रेट लखनऊ के द्वितीय तल पर स्थापित आवेदन प्राप्ति सेल/सिंगल विंडो कंट्रोल रूम कक्ष संख्या 54 में उपस्थित होकर अपने आवेदन पत्र शीघ्र जमा कर दे. उक्त  पोर्टल पर दर्ज लखनऊ जनपद के कुल मृतकों की सूची कलेक्ट्रेट के द्वितीय तल पर आवेदन प्राप्ति सेल के सामने चस्पा कर दी गई है.

इस आदेश में स्पष्ट किया गया है कि प्रदेश में पंचायत चुनाव की ड्यूटी में लगे कार्मिकों की कोविड-19 से मृत्यु की दशा में प्रति व्यक्ति 30 लाख रूपये की धनराशि उपलब्ध करवायी गयी है और कोविड-19 की रोकथाम में लगे कार्मिकों की इस बीमारी से मृत्यु की दशा में प्रति व्यक्ति 50 लाख रूपये की धनराशि उपलब्ध करवायी गई है. इन दोनों श्रेणियों के परिवार को पचास हजार रूपये की उक्त अनुग्रह राशि उपलब्ध नहीं करवायी जाएगी. सभी मण्डलायुक्तों और जिलाधिकारियों को भेजे गये इस आदेश में निर्देश दिये गये हैं कि कोविड-19 से मृत व्यक्तियों के परिजनों को पचास हजार रूपये की अनुग्रह राशि उपलब्ध करवाए जाने की कार्यवाही की जाए.

कोविड-19 से मृत व्यक्तियों के परिजनों को राज्य आपदा मोचक निधि से पचास हजार रूपये की अनग्रह राशि दी जाएगी. इसके लिए मृतक के मृत्यु प्रमाण-पत्र में 'कोविड-19 के संक्रमण से मृत्यु हुई है.' अंकित करवाना होगा. इसके अलावा मृतक की मृत्यु कोविड-19 के संक्रमण से हुई है को प्रमाणित करने के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार के तीन सितम्बर 2021 को जारी दिशा निर्देश के अनुसार अपर जिलाधिकारी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, प्रधानाचार्य या मेडिकल कालेज विभागाध्यक्ष मेडिसिन और एक विषय विशेषज्ञ की कोविड-19 से मृत्यु प्रमाणित करने के बाबत कमेटी गठित होगी.