सिटी न्यूज़

जिला अस्पताल गोंडा में अल्ट्रासाउंड न होने के मामले पर डिप्टी सीएम ने मांगी रिपोर्ट

जिला अस्पताल गोंडा में अल्ट्रासाउंड न होने के मामले पर डिप्टी सीएम ने मांगी रिपोर्ट
UP City News | May 12, 2022 06:07 PM IST

लखनऊ. जिला अस्पताल गोंडा में सप्ताह में अल्ट्रासाउंड ना होने का मामला सामने आया है. जिसमें डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने मामले को तलब करते स्पष्टीकरण मांगा है. मुख्यमंत्री बृजेश पाठक मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने का निर्देश देते हुए लगातार अस्पतालों का निरीक्षण कर रहे हैं.

बताते चलें कि बुधवार को अल्ट्रासाउंड का नियत दिन होने के कारण कई गर्भवती महिला जमीन पर बैठे रेडियोलॉजिस्ट का इंतजार करती रही लेकिन पूरे दिन अल्ट्रासाउंड कक्ष का ताला नहीं खुला. जिला महिला अस्पताल में पहले सप्ताह में 3 दिन सोमवार, बुधवार तथा शुक्रवार को अल्ट्रासाउंड किया जाता है. पिछले सप्ताह जिलाधिकारी ने गर्भवती महिलाओं का दर्द देखते हुए सप्ताह में 6 दिन अल्ट्रासाउंड किए जाने का आदेश दिया था. मनकापुर सीएससी अधीक्षक व रेडियोलॉजिस्ट डॉक्टर ए के राय को प्रत्येक कार्य दिवस महिला अस्पताल में अल्ट्रासाउंड किए जाने का आदेश दिया गया. लेकिन डीएम के आदेश से नाराज रेडियोलॉजिस्ट सोमवार को बुधवार को अस्पताल नहीं आए.

बुधवार को जिला अस्पताल आई गर्भवती महिलाओं को अल्ट्रासाउंड के लिए भटकना पड़ा. महिलाएं ताला खुलने का इंतजार करती रही. इस दौरान महिलाओं की भारी भीड़ हो गई और जमीन पर बैठकर इंतजार करती रही. लेकिन रेडियो लॉजिस्टिक नहीं आई और जिसके बाद मायूस होकर उन्हें वापस घर लौटना पड़ा.

अल्ट्रासाउंड करवाने आई एक गर्भवती महिला की सास ने बताया कि उसकी बहू को डॉक्टर ने अल्ट्रासाउंड लिखा था. पहले बुधवार को हो जाता है लेकिन आज अल्ट्रासाउंड कक्ष में ताला लगा हुआ है. अब बाहर ही कहीं दूसरी जगह कराना पड़ेगा. वही प्रियंका नाम की महिला ने बताया कि उन्होंने बाहर से 600 रूपये देकर अल्ट्रासाउंड कराया नियत दिन पर अल्ट्रासाउंड ना होने से करीब 2 दर्जन से अधिक गर्भवती व अन्य महिलाओं को भटकना पड़ा वहीं कुछ मैं बाहर पैथोलॉजी पर 600 रूपये देकर अल्ट्रासाउंड कराया. इस मामले में डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने स्पष्टीकरण तलब करते हुए कहा है कि तत्काल कार्यवाही कर 3 दिन में रिपोर्ट उपलब्ध कराई जाए.