सिटी न्यूज़

अलीगढ़ और हरिद्धार के डीएम से धर्म संसद में नफरती भाषण करने वालों पर कार्रवाई की मांग

अलीगढ़ और हरिद्धार के डीएम से धर्म संसद में नफरती भाषण करने वालों पर कार्रवाई की मांग
UP City News | Jan 14, 2022 11:16 PM IST

लखनऊ. रू़ड़की में अभी वसीम रिजवी को धर्म संसद में उनके भाषण के लिए गिरफ्तार किया गया था. सुप्रीम कोर्ट में धर्म संसद में नफरती भाषणों को लेकर याचिका दायर करने वाले वरिष्ठ पत्रकार कुर्बान अली की तरफ से हरिद्धार और अलीगढ़ दोनों जिले के डीएम को पत्र लिखकर सुरक्षा के उपाय करने का आग्रह किया है. उन्होंने कहा है कि प्रशासन को ऐसे उपाय करने चाहिए जिससे इस तरह के नफरत के भाषण सामने न आने पाए. उन्होंने धर्म संसद में नफरत फैलाने वाले भाषणों की एसआईटी से जांच कराए जाने की मांग की है.

हरिद्दार और अलीगढ़ के डीएम को भेजे पत्र में उन्होंने कहा कि पत्र सुप्रीम कोर्ट के दिए गए आदेश में ज्ञापन देने की दी गई छूट के मुताबिक भेजे जा रहे हैं. उन्होंने पत्र में कहा है कि ऐसी सूचना मिल रही है कि अलीगढ़ में 22-23 जनवीर को अगली धर्म संसद होने वाली है. उन्होंने पत्र में कहा है कि इस धर्म संसद में भी वह लोग शामिल हो सकते हैं जिन्होंने इसके पहले भी नफरत के भाषण दिए थे.

वही उन्होंने हरिद्धार के डीएम को भेजे गए पत्र में कहा है कि सूचना मिल रही है कि शंकराचार्य परिषद से जुड़े संत  17 और 19 दिसंबर को धर्म संसद में दिए भाषण के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर के विरोध में 16 जनवरी को बैठक करेंगे.उनहोंने कहा कि यूपी और उत्तराखंड में चुनाव होने हैं. अगर चुनाव के दौरान इस तरह के भाषण हुए तो इससे सामाजिक व्यवस्था अस्थिर हो सकती है.  इसका देश की राजनीति पर भी गंभीर असर हो सकता है।