सिटी न्यूज़

नायाब तहसीलदार और कोतवाल को कोर्ट ने भेजा जेल, जानें क्या है मामला

नायाब तहसीलदार और कोतवाल को कोर्ट ने भेजा जेल, जानें क्या है मामला
UP City News | Sep 14, 2021 02:18 PM IST

बाराबंकी. उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में विवाादित जमीन पर निर्माण को लेकर हुए विवाद के मामले में निर्माण गिराना नायाब तहसीलदार और कोतवाल को भारी पड़ गया. कोर्ट ने इस मामले में अवमानना करने पर दो अधिकारियों को सजा सुनाई है. नायाब तहसीलदार को एक महीने की तो कोतवाल को 3​ दिन की जेल की सजा सुनाई गई. बाराबंकी अदालत ने दोनों को जेल भेज दिया है.

दरअसल, नगर कोतवाली क्षेत्र के आलापुर में एक जमीन को लेकर दो पक्षों में विवाद चल रहा है. एक पक्ष ने यहां निर्माण करवाया था. जबकि दूसरा पक्ष इस निर्माण को अवैध बताकर इसे हटवाना चाह रहा था. इस वजह से पुलिस प्रशासन से शिकायत भी की थी. वहीं निर्माण कराने वाले पक्ष ने इस मामले में बाराबंकी की कोर्ट नंबर 13 मुंसिफ मजिस्ट्रेट के यहां स्टे की अर्जी दे दी थी. कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई करते हुए यथा स्थिति बरकरार रहने का आदेश दिया था.

आरोप है कि इसके बावजूद पुलिस-प्रशासन ने निर्माण गिरवा दिया था. कोर्ट के स्टे बावजूद पुलिस-प्रशासन ने विपक्षियों के पक्ष में निर्माण गिरवाया तो पीड़ित पक्ष ने न्यायालय में अदालत की अवमानना की शिकायत की थी. पीड़ित पक्ष की शिकायत पर कोर्ट ने एक्शन लिया और दोनों अधिकारियों को सजा सुनाई. मुंशिफ मजिस्ट्रेट खान जीशान मसूद ने नगर कोतवाल अमर सिंह को तीन दिन के लिए जबकि नायब तहसीलदार केशव प्रसाद को भी कोर्ट एक महीने की सजा सुनाई है.