सिटी न्यूज़

रिसर्च: चॉकलेट खाने से बढ़ती है सोचने की क्षमता, जानें क्‍या और हैं फायदे

रिसर्च: चॉकलेट खाने से बढ़ती है सोचने की क्षमता, जानें क्‍या और हैं फायदे
UP City News | May 05, 2021 02:37 PM IST

नई दिल्‍ली. अगर आपको भी चॉकलेट बहुत पसंद और चॉकलेट खाए बिना आप रह नहीं सकते तो अब ये बात जानकर आप बेफिक्र चॉकलेट का सेवन कर सकते हैं. स्वस्थ्य व्यवसाल के लिए कोकोआ का सेवन करना बहुत ही फायदेमंद है, इससे उनके दिमाग की सोचने की क्षमता और बढ़ जाती है जिससे वह कठिन से कठिन चीजों को आसानी से सुलझा देते हैं. शोधकर्ताओं की वैज्ञानिक रिपोर्ट के अनुसार कोकोआ का सेवन करने वाले 18 में से 14 लोगों में सुधार देखा गया है.

एक शोधकर्ता और बर्मिंघम विश्वविद्यालय में पोषण विज्ञान में व्याख्याता ने जो Urbana-Champaign मनोविज्ञान प्रोफेसरों मोनिका Fabiani और गेब्रियल Gratton में इलिनोइस विश्वविद्यालय के साथ अनुसंधान का नेतृत्व कर बताया कि  बताया कि पिछले अध्ययनों से पता चला है कि flavanols पदार्थ खाने  से लाभ हो सकता है. इससे  मस्तिष्क में युवा स्वस्थ वयस्कों में संज्ञानात्मक प्रदर्शन पर एक सकारात्मक प्रभाव मिल रहा है.

एक टीम ने करीबन 18 लोगें को का अध्ययन करके यह पता लगाया कि flavanols क्या वाकई में मस्तिष्‍क में सुधार ला सकता है या नहीं चुने गए लोग एसे थे जिन्हें कोई बीमारी नहीं थी न ही उन्होनें कभी धूम्रपान का सेवन किया था. जिनमें से 16 लोगों को कोकोआ flavanols दिया गया. flavanols की मात्रा काफी ज्यादा थी, बाकी दो को जिसमे flavanols का मात्रा काफी कम थी. कोको का सेवन करने के लगभग दो घंटे बाद प्रतिभागियों ने 5% कार्बन डाइऑक्साइड के साथ हवा में सांस ली. ग्रिटन ने कहा कि यह मस्तिष्क संतुलेचर को चुनौती देने के लिए एक तरीका है ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि यह कितनी अच्छी तरह प्रतिक्रिया देता है.

उन्होंने कहा, शरीर आमतौर पर मस्तिष्क में रक्त प्रवाह को बढ़ाकर प्रतिक्रिया करता है."इससे अधिक ऑक्सीजन आती है और मस्तिष्क को अधिक कार्बन डाइऑक्साइड को खत्म करने की भी अनुमति मिलती है. शोधकर्ताओं ने भी जटिल कार्यों के साथ प्रतिभागियों को चुनौती दी है कि उंहें कई बार विरोधाभासी या प्रतिस्पर्धी मांगों का प्रबंधन करने की आवश्यकता है. प्रतिभागियों के अधिकांश कोको flavanols के संपर्क के बाद एक मजबूत और तेजी से मस्तिष्क ऑक्सीजन प्रतिक्रिया हुई. कम flavanols कोकोआ को मुकाबले ज्यादा flavanols कोकोआ में अधिकतम ऑक्सीजन का स्तर तीन गुना से अधिक था, और ऑक्सीजन की प्रतिक्रिया लगभग एक मिनट तेज थी.