सिटी न्यूज़

मुसीबत: अब तेल की धार में लगा महंगाई का तड़का

मुसीबत: अब तेल की धार में लगा महंगाई का तड़का
UP City News | Jul 21, 2021 02:22 PM IST

लखनऊ. कोरोना काल में महंगाई की चाल भी बहुत तेज हो गई है. पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस की कीमतों में इजाफे के बाद अब तेल की धार रसोई का बजट बिगाड़ रही है. हाल ही में रिफाइंड ऑयल के दामों में आठ से दस रुपये का इजाफा हुआ है. इसके साथ ही सब्जी और दालों की कीमतों ने भी लोगों को मुसीबत में डाल रखा है. कोरोना काल में आजीविका का संकट झेल रहे लोगों के लिए महंगाई ने नई परेशानी खड़ी कर दी है.

कोरोना काल आम आदमी के लिए काल बनकर आया है. एक ओर अपने जीवन की रक्षा के लिए आम आदमी जद्दोजेहद में जुटा है तो दूसरी ओर महंगाई नित नये आयामों को छू रही है. कोरोना काल में अपनी नौकरी गंवाने वाले लोगों के लिए महंगाई के कारण घर का रोज का खर्च निकालना ही मुश्किल हो रहा है. रसोई गैस के दामों में बढ़ोत्तरी के बाद अब तेल और रिफाइंड ऑयल के दामों में आठ से दस रुपये की बढ़ोत्तरी हो गई है. ऐसे में आम आदमी को सब्जी में तड़का लगाना मुश्किल हो गया है.

बता दें कि कोरोना की द्वितीय लहर आने के बाद लगातार महंगाई बढ़ रही है. महंगाई की थोक महंगाई की दर अपने सर्वोच्च स्तर पर है और यह आम आदमी के जीवन पर बुरा प्रभाव डाल रही है. डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी होने से मालाभाड़ा बढ़ने पर अधिकांश खाद्य पदार्थों की कीमतों में इजाफा हुआ है. विपक्ष लगातार महंगाई को लेकर केंद्र सरकार को घेर रही है. हालांकि केंद्र सरकार लाख प्रयास के बाद भी महंगाई पर अंकुश नहीं लगा पा रही है. कोरोना काल में आम आदमी दोहरी मार झेलने पर विवश है.