सिटी न्यूज़

एशिया की सबसे बड़ी बजट एयरलाइनों में से एक इंडिगो को कोरोना के चलते भारी नुकसान उठाना पड़ा

एशिया की सबसे बड़ी बजट एयरलाइनों में से एक इंडिगो को कोरोना के चलते भारी नुकसान उठाना पड़ा
UP City News | Jun 07, 2021 10:44 AM IST

नई दिल्ली. एशिया की सबसे बड़ी बजट एयरलाइनों में से एक इंडिगो को भारत के माध्यम से कोरोना वायरस के चलते यात्रियों के सफर न करने से भारी नुकसान उठाना पड़ा है. इंटरग्लोब एविएशन लिमिटेड द्वारा संचालित इस वाहक ने मार्च में से तीन महीनों में 11.5 बिलियन रुपये का नुकसान पोस्ट किया, जो इसकी चौथी तिमाही का नुकसान है.

वहीं एक साल पहले 8,7 बिलियन रुपये का नुकसान हुआ था. विश्लेषकों के अनुसार औसत साढ़े चार अरब रुपये का नुकसान का अनुमान लगाया गया था. मुख्य कार्यकारी अधिकारी रोनेजॉय दत्ता ने बयान में कहा, "यह हमारे लिए एक बहुत ही मुश्किल वर्ष रहा है. कोविड के कारण कड़ी मेहनत करनी पड़ रही है.

दिसंबर से फरवरी की अवधि के दौरान लाभ के कुछ आसार नजर आए थे. और फिर कोविड की दूसरी लहर के साथ फिर से नुकसान उठाना पड़ा है. हमने मई से मार्च तक तेजी से गिरावट देखी है. हालांकि महामारी ने दुनिया भर की कई एयरलाइनों को नुकसान की कगार पर धकेल दिया है और उससे आगे, भारत में प्रकोप की तीव्रता ने वहां ऑपरेटरों के लिए भी इस समय को मुशकिल बना दिया है.

देश के वाहकों को जीवित रहने के लिए लगभग $5 बिलियन की आवश्यकता होगी, लेकिन सीएपीए सेंटर फॉर एविएशन के अनुसार, उनके पास केवल अन्य साधनों के माध्यम से लगभग $1.1 बिलियन हीं है.सीएपीए ने कहा कि इंडिगो और एयर इंडिया लिमिटेड 2022 तक नुकसान में $8 बिलियन का नुकसान और उठाना पड़ सकता है.

इंडिगो ने कहा कि प्रति किलोमीटर हर यात्री द्वारा मापा गया यातायात एक साल पहले से 2021 के पहले तीन महीनों में 29% गिरा है. इसने तिमाही में अपनी 70.2% सीटों को भर लिया गया था.जबकि एक साल पहले 82.9 सीटें भरी थीं. इस वाहक पर 31 मार्च तक 185.7 अरब रुपये नकद और 298.6 अरब रुपये का कुल कर्ज था.