सिटी न्यूज़

Important News : एक दिसंबर से इन चीजों में होगा बदलाव, बढ़ सकता है जेब पर बोझ

Important News : एक दिसंबर से इन चीजों में होगा बदलाव, बढ़ सकता है जेब पर बोझ
UP City News | Nov 30, 2021 02:42 PM IST

दिल्ली. नवंबर (November) माह में एक दिन ही शेष है. बुधवार से नए माह दिसंबर (December) की शुरुआत हो रही है और कई चीजों में सरकार बदलाव कर रही है. सरकार द्वारा प्रत्येक माह की पहली तारीख को किए जाने वाले बदलावों से आम आदमी के जीवन पर भी प्रभाव पड़ता है. कुछ चीजें महंगी होती हैं तो कुछ सस्ती.आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि एक दिसंबर से किन—कि​न व्यवस्थाओं में बदलाव देखने को मिलेगा और यह आपके जीवन में कितना असरकारक होगा. इस जानकारी के बाद आप अपने बजट को आसानी से मैनेज कर सकेंगे. आइये जानते हैं एक दिसंबर से होने वाले बदलाव...

गैस सिलिंडर के दाम
गैंस सिलिंडर (Gas cylinder) के दाम ने आम आदमी को सबसे अधिक प्रभावित किया है. सिलिंडर (Gas cylinder) के दामों को लेकर हाहाकार मचा हुआ है. प्रत्येक माह की पहली तारीख को गैस सिलिंडर के दामों की समीक्षा की जाती है. इसके बाद नई कीमतें तय होती हैं और कंपनियों द्वारा नई कीमतों की जानकारी दी जाती है. अमूमन समीक्षा के बाद दामों में वृद्धि होना तय होता है. हालांकि कई बार कीमतों में कमी और बदलाव नहीं होता है.

एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस
दिसंबर से पहले नवंबर माह में दिवाली के कारण बैंक ग्राहकों को लुभाने के लिए कई तरह के आफर देते हैं. इनमें कम ब्याज दर पर लोन और जीरी प्रोसेसिंग फीस शामिल है. हालांकि अधिकांश बैंकों क आफर दिवाली से शुरू होकर दिसंबर माह के अंत में खत्म होते हैं. हालांकि एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस का ऑफर 30 नवंबर (November) को खत्म हो रहा है. ऐसे में यदि आप एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस (LIC Housing Finance) से लोन कराने का मन बना रहे हैं तो पहले आफर अच्छी तरह से जान लीजिएगा.

एसबीआई क्रेडिट कार्ड
देश की सबसे भरोसेमंद बैंक एसबीआई (SBI) आपको झटका देने जा रही है. एसबीआई (SBI) एक दिसंबर (December) से क्रेडिट कार्ड से शॉपिंग करने पर प्रोसेसिंग फीस का प्रावधान करने जा रही है. ऐसे में एसबीआई (SBI) के क्रेडिट कार्ड से शॉपिंग करना एक दिसंबर से महंगा हो जाएगा. बता दें कि अब तक एसबीआई (SBI) खरीदारी पर महज ब्याज लेती थी लेकिन अब एक दिसंबर से बैंक प्रोसेसिंग फीस भी चार्ज करेगी.

यूएएन-आधार लिकिंग
यदि आप नौकरी पेशा करने वाले हैं तो यह बदलाव आपके लिए जानना बहुत जरूरी है. एक दिसंबर 2021 से कंपनियों को सिर्फ उन्हीं कर्मियों के ईसीआर (इलेक्ट्रॉनिक चालान कम रिटर्न) फाइल करने को कहा गया है, जिनका यूएएन (UAN) और आधार (AADHAR) की लिंकिंग वैरिफाई हो चुकी है. इसका मतलब साफ है यदि किसी कर्मी का यूएएन (UAN) आधार (AADHAR) वैरिफाइड नहीं है तो ईसीआर फाइल नहीं होगा और ऐसी स्थिति में एंप्लॉयर की तरफ से पीएफ में मिलने वाला कांट्रिब्यूशन रोका जा सकता है. ऐसे में आज ही अपना यूएएन (UAN) आधार (AADHAR) से लिंक करा लें.