सिटी न्यूज़

शिवपाल बोले-अखिलेश मेरे समर्पण को समझें, मुझ पर विश्वास करें और मेरी क्षमता को पहचानें

शिवपाल बोले-अखिलेश मेरे समर्पण को समझें, मुझ पर विश्वास करें और मेरी क्षमता को पहचानें
UP City News | Nov 22, 2022 01:13 PM IST

कानपुर. रविवार को प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया (पीएसपी-एल) के प्रमुख शिवपाल यादव, भतीजे और समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव और सपा महासचिव रामगोपाल यादव ने संयुक्त रूप से सपा के कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया. विधानसभा क्षेत्र जसवंतनगर सोमवार को मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में डिंपल यादव के प्रचार अभियान को तेज करेगी. जसवंतनगर, हालांकि इटावा जिले का एक हिस्सा है, यह मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है.

इस अवसर पर बोलते हुए, शिवपाल ने कहा कि उन्होंने 'नेताजी' (भाई और सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव) के साथ बहुत समय बिताया है और उनसे बहुत कुछ सीखा है. मैं अखिलेश से कहना चाहता हूं कि मेरे समर्पण को समझें, मुझ पर विश्वास करें और मेरी क्षमता को पहचानें. मैं उन्हें (अखिलेश को) आश्वस्त करना चाहता हूं कि जैसे मैंने 'नेताजी' को कभी निराश नहीं होने दिया, वैसे ही मैं उन्हें भी निराश नहीं होने दूंगा.'

शिवपाल ने यह भी कहा, ''आज हमारे बीच 'नेताजी' नहीं हैं, इसलिए यह चुनाव और भी महत्वपूर्ण हो गया है. यहां (जसवंतनगर) का विकास 'नेताजी' ने किया है. अगर आप डिंपल यादव को हमसे रिकॉर्ड मतों से यहां से चुनाव जिताते हैं, तभी यह 'नेताजी' को सच्ची श्रद्धांजलि होगी.' उन्होंने आगे कहा, "आप लोगों की जो भी इच्छा थी, मैं हमेशा कहता था कि एक होना जरूरी है." इसके बाद शिवपाल ने बीजेपी प्रत्याशी रघुराज सिंह शाक्य पर हमला बोलते हुए कहा, 'ये शिष्य नहीं, अवसरवादी हैं.'

उन्होंने कहा, 'नेताजी' ने जसवंतनगर ही नहीं, पूरे प्रदेश का दिल जीत लिया है. हम यहां डिंपल को जिताने की अपील करने आए हैं. हमारा पिछला जीत का रिकॉर्ड इस बार टूटना है. उन्होंने कहा कि जसवंतनगर में सड़क से लेकर बिजली तक सब कुछ नेताजी (मुलायम सिंह यादव) की वजह से है. उन्होंने कहा, 'उनकी कई कहानियां आज भी लोगों के जेहन में हैं. शिवपाल ने कहा कि सरकार भाई को भाई से, हिंदू को मुसलमान से अलग करने का काम कर रही है. उन्होंने कहा, "मतदान के दिन, अगर कोई बूथ पर झगड़ा करता है, तो बस गाली सुनें, और जवाबी कार्रवाई न करें," उन्होंने कहा और कहा, "चुनाव के दिन 90% मतदान होना है. साल 2024 का चुनाव भी इसी तरह लड़ा जाएगा.

इस मौके पर संबोधित करते हुए अखिलेश ने जसवंतनगर की जनता का रिश्ता मुलायम से जोड़ा. उन्होंने कहा कि जसवंतनगर की जनता अपने ही जीत के रिकॉर्ड को तोड़ने वाली है. उन्होंने आगे कहा कि "चुनाव ऐसे समय में है जब नेताजी मुलायम सिंह यादव हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन मैं जानता हूं कि 'नेताजी' आज भी यहां के लोगों के दिलों में बसते हैं."“वह (मुलायम) जसवंतनगर और सैफई की पुरानी बातों के बारे में बात करते थे. यहां के बुजुर्गों ने उनके साथ कदम से कदम मिलाकर उनके संघर्षों में साथ दिया है.

रामगोपाल ने कहा कि 'यह सरकार किसी न किसी तरह से सपा को हराने के लिए साजिश रचेगी और काम करेगी.' उन्होंने कहा, 'सभी को न केवल सतर्क रहना है, बल्कि मतदान भी जरूर करना है. जसवंतनगर अकेले रघुराज को सांसद बनाते थे। डिंपल को उनकी तरह जिताएं. 'उन्होंने आगे केंद्र की भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, ''बेरोजगारी चरम पर है, न्यायपालिका डरी हुई है, मौजूदा सरकार क्रूर सरकार है.

ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों पर कैमरे से 360 डिग्री तक रखी जाएगी नजर, इन चौराहों पर लगेंगे कैमरे