सिटी न्यूज़

कोरोना पॉजिटिव पत्‍नी और बच्‍ची की देखभाल के लिए छुट्टी न मिलने से सीओ का इस्तीफा, लेटर वायरल

कोरोना पॉजिटिव पत्‍नी और बच्‍ची की देखभाल के लिए छुट्टी न मिलने से सीओ का इस्तीफा, लेटर वायरल
UP City News | May 04, 2021 09:19 AM IST

झांसी. कोरोना पॉजिटिव पत्नी और बच्ची की देखभाल के लिए छुट्टी न मिलने से खफा 2005 बैच के पीपीएस अफसर मनीष चंद्र सोनकर (CO सदर झांसी) ने इस्तीफा दे दिया है. उनके इस्तीफा देने के बाद एक लेटर सोशल मीडिया पर तेजी के साथ वायरल हो रहा है ​जिसमें वो आला अफसरों पर कइ गंभीर आरोप लगा रहे हैं. उनके इस्तीफे को स्वीकृत करते हुए एसएसपी रोहन पी कनय ने संस्तुति के लिए राज्यपाल को भेज दिया है.

मनीष चंद्र सोनकर का एक पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. जिसमें उन्हों लिखा है कि मेरे साथ मेरी पत्नी और 4 साल की बेटी रह रही है. मैंने गत वर्षों में सेवाभाव से कार्य किया है. मेरे परिवार में चाहे कोई कितना भी बीमार रहा हो चाहे कोई मर भी गया हो कोई न कोई ऑल्टरनेट व्यवस्था का प्रयास कर हमेशा स्वयं से आगे पुलिस सेवा ( thank less ) को आगे रखा है. इस के बावजूद इस महामारी के काल में जब एक बार मेरे परिवार को मेरी ज़रूरत पड़ी है तो भी ये विभाग और इसके कर्णधार को ये गंवारा नहीं हुआ कि मुझे मेरे परिवार के साथ इस विपित्ता काल में अकेले छोड़ दें, मदद करने के बजाए प्रताड़ना करना शुरू कर दिया.

उन्होंने आगे लेटर में लिखा है कि गत 30 अप्रैल को मेरी पत्नी मेरा और मेरी बेटी का कोविड टेस्ट कराया. जिसमें मेरी पत्नी का रैंडम test positive आया है. मेरी पत्नी को तुरंत आइसोलेट करना पड़ा. मेरी 4 वर्ष बेटी जो जन्म के बाद से ही सिर्फ अपनी मां के साथ ही रही है को मेरे पास आना पड़ा साथ ही क्योंकी मैं घर में अकेला एडल्ट मेंबर बचा मेरी पत्नी की सेवा करने की जिम्मेदारी मेरे ऊपर आ गई. जानपहचान के लोगों से मदद इसलिए नहीं ले सकते थे क्योंकि मेरी पत्नी के corona positive होने से पहले बेटी लगातार उसके साथ रह रही थी ताकि बीमारी जान पहचान वालों में और न फैल जाए.

सीओ का आरोप है कि इसलिए मैने फोन के जरिए एसएसपी झांसी को अवगत कराते हुए जरिए पत्र दिनांक 1 मई 2021 से 6 दिवस आकस्मिक अवकाश प्रदान करने हेतु आवेदन किया था लेकिन इस कठिन समय में साथी अधिकारी के रूप में मेरे साथ संवेदना पूर्वक व्यवहार करने के बजाए मेरी ड्यूटी 2 मई से 3 मई तक बड़ागांव ब्लॉक के पंचायत चुनाव की मतगणना में लगा दी. जिसपर मैंने राज्यपाल को संबोधित त्यागपत्र को जरिए उचित माध्यम प्रेषित कर दिया. मेरा त्यागपत्र हेतु आवेदन प्राप्त करते ही दिनांक 2 मई को ही माननीय वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा मेरे 1 मई के आवेदन के क्रम में दिनाक 3 मई से 6 मई तक अवकाश प्रदान कर दिया गया.