सिटी न्यूज़

कानपुर में युवक को थाने में बेरहमी से पीटा फिर जेल भेज दिया, खाना लेकर पहुंची मां की यह सुनते ही थाने की चौखट पर मौत

कानपुर में युवक को थाने में बेरहमी से पीटा फिर जेल भेज दिया, खाना लेकर पहुंची मां की यह सुनते ही थाने की चौखट पर मौत
UP City News | Aug 05, 2022 07:47 AM IST

कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर में नरवल थाने में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. बताया जा रहा है कि एक युवक को पुलिस ने थाने में बेरहमी से पिटाई कर दी. इसके बाद उसका शांति भंग में चालान कर दिया गया. युवक की मां थाने खाना लेकर पहुंची तो बेटे को जेल जाने की जानकारी हुई यह सुनते ही उसकी थाने की चौखट पर ही मौत हो गई. वहीं इस घटना की जानकारी होते ही ग्रामीण भड़क उठे और थाने के बाहर ही शव रखकर जाम लगा दिया सूचना पर पहुंची पुलिस अधिकारियों ने देर तक परिजनों को समझाने में जुटे रहे. इस संबंध में थानेदार समेत पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. एडीजी का कहना है कि प्रकरण की जांच एडिशनल एसपी को सौंपी गई है.

आखरी गांव नर्वल निवासी नितेंद्र कुमार कुरील और वहीं के अंकित साहू के बीच 29 जुलाई को मारपीट हो गई थी. नितेंद्र का आरोप है कि जब वो बाजार जा रहा था तभी तहसील गेट पर अंकित ने उसे रोककर मारपीट की थी और जाति सूचक शब्द कहे थे. उसने थाने में शिकायत दर्ज कराई थी. पुलिस ने अंकित पर शांति भंग में कार्रवाई कर दी. 3 अगस्त को फिर मामूली बात लेकर कहासुनी हुई थी. नितेंद्र ने बताया कि वो चारा लेकर बाजार से साइकिल गांव जा रहा था तभी गांव की तरफ से बाइक से आ रहे है अंकित के पिता रमाशंकर ने बाइक से टक्कर मार दी.

गोरखपुर से युवाओं के सेवायोजन की बड़ी लकीर खींच गये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

इसकी शिकायत थाने में की तो पुलिस ने मारा और झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी देते हुए शांति धान की कार्रवाई कर दी. गुरुवार को नितेंद्र को पुलिस ने जेल भेज दिया. परेशान बेटे के लिए राजेश्वरी शाम करीब 5 बजे बजे खाना लेकर थाने पहुंची. वहां पता चला कि बेटा जेल चला गया है तो उसकी वही मौत हो गई. इसके बाद ग्रामीणों ने सबको थाने के बाहर रखकर जाम लगा दिया. दोनों ओर से वाहनों की लंबी कतारें लग गईं. आला अधिकारी मौके पर पहुंचे तो लोगों को समझाकर शांत कराया. इस संबंध में एसओ समेत पांच के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है.