सिटी न्यूज़

तीन करोड़ रुपये घोटाले का आरोपित पीसीएफ महाप्रबंधक गिरफ्तार

तीन करोड़ रुपये घोटाले का आरोपित पीसीएफ महाप्रबंधक गिरफ्तार
UP City News | Sep 22, 2022 11:50 AM IST

प्रतापगढ़. पीसीएफ गोदाम से डीएपी और यूरिया का लगभग तीन करोड़ रुपये के घोटाला के आरोपित महाप्रबंधक संजीव कुमार को प्रतापगढ़ पुलिस ने फरुखाबाद से गिरफ्तार कर लिया है. इस मामले में जिलाधिकारी के आदेश पर महाप्रबंधक पर प्राथमिकी हुई थी.

गेहूं की बुआई के दौरान पिछले साल डीएपी की किल्लत को देखते हुए पीसीएफ की गोदामों की जांच में 1075 टन डीएपी गायब थी.इसकी कीमत 2.53 करोड़ रुपये थी. जिलाधिकारी के आदेश पर पीसीएफ के जिला प्रबंधक धनंजय तिवारी ने 14 नवंबर 2021 को भंडार नायक संतोष कुमार के खिलाफ गबन का मुकदमा दर्ज कराया. वहीं 25 लाख की यूरिया भी नहीं मिली थी. इस पर 14 जनवरी 2022 को जिला प्रबंधक ने मुकदमा दर्ज कराया था.
मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस से बचने के लिए संतोष भागता रहा. पुलिस ने उसके ऊपर 50 हजार का इनाम घोषित कर दिया. पुलिस के हाथ लगे भंडार नायक संतोष कुमार से पूछताछ में घोटाले में शामिल तत्कालीन क्षेत्रीय प्रबंधक प्रयागराज संजीव कुमार व जिला प्रबंधक रहे धीरेंद्र कुमार, समितियों के सचिव, सहायक संगणक दिनेश कुमार, उर्वरक पटल प्रभारी दिनेश कुमार व अन्य की संलिप्तता पाई गई थी.

मामले में क्षेत्रीय प्रबंधक संजीव कुमार व जिला प्रबंधक धीरेंद्र कुमार को निलंबित कर दिया था. पुलिस से बचने के लिए दोनों फरार थे. कोतवाली पुलिस ने मंगलवार को फर्रुखाबाद में फरार चल रहे निलंबित क्षेत्रीय प्रबंधक संजीव कुमार को पकड़ लिया. रात में उन्हें कोतवाली लाया गया. पूछताछ के बाद पुलिस ने बुधवार को न्यायालय में पेश किया. जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया. इस मामले में अब तक पुलिस ने भंडार नायक संतोष कुमार, समिति के सचिव राजेश पटेल, सहायक संगणक दिनेश कुमार व उर्वरक पटल प्रभारी दिनेश कुमार को गिरफ्तार कर चुकी है. अब फरार निलंबित जिला प्रबंधक धीरेंद्र कुमार की तलाश हो रही है.